पड़ोसियों ने किया विरोध तो मुसलमान को मकान बेचने से किया मना

Samachar Jagat | Monday, 20 Jan 2020 10:37:41 PM
1416485021532060

देश में नफरत का एक माहौल गढ़ा जा रहा है और मजहब की बुनियाद पर तलवारें खिंची हुई हैं. हालांकि इसी माहौल में देश में ऐसे लोग भी हैं जो लोगों को जोड़ने में लगे हैं. लेकिन सियासत जो न कराए. सियासत आदमी को आदमी से लड़ाने में लगी है लेकिन देश के लोग इस अंधेरे में भी उजाले की मशाल थामे दिलों को जोड़ने में लगे हुए हैं. लेकिन समय शातिर है और लोग हैं कि मानते ही नहीं. अब गुजरात के वडोदरा की घटना भी इसी अंधेरे की तरफ इशारा करती है. दरअसल वडोदरा में एक शख्स ने पड़ोसियों के विरोध के चलते मुसलिम परिवार को मकान बेचने से इनकार कर दिया. मामला शहर के वसना इलाके का है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पड़ोसियों ने दलील दी कि इससे इलाके में प्रॉपर्टी की कीमत गिर जाएगी. समर्पण सोसायटी के लोगों ने ‘डिस्टर्ब्ड एरिया एक्ट’ का हवाला देते हुए संपत्ति मुसलिम परिवार को बेचने पर आपत्ति दर्ज कराई.

सोसायटी में रहने वाले लोगों का कहना है कि यह कानून हिंदू बाहुल्य इलाकों में मुसलिमों और मुसलिम बाहुल्य इलाकों में हिंदूको प्रॉपर्टी की बिक्री करने की अनुमति तब तक नहीं देता जब तक उसके आसपास रहने वाले लोग सहमत न हों. इलाके में कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पुलिस भी तैनात थी. सोसायटी में करीब 170 मकान हैं, जिनमें से दो 2017 में मुसलिमों को बेचे गए थे और एक अन्य मकान 99 साल के लिए लीज पर दिया गया था.

जेपी रोड पुलिस थाने के क्षेत्र में आने वाली समर्पण सोसायटी (सिटी सर्वे नंबर 522 से 527, 680 से 712) को 2014 में ‘डिस्टर्ब्ड एरिया’ घोषित कर दिया गया था. इसके मुताबिक किसी भी संपत्ति के लेन-देन से पहले नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेना जरूरी होगा. यह एनओसी सोसायटी के प्रमुख जारी करेंगे, जिस पर कलेक्टर की सहमति भी जरूरी होगी. संपत्ति का सौदा रद्द करने वाले महेश पलानी ने जब अपने मकान को बेचने के लिए पुलिस वेरिफिकेशन के लिए आवेदन दिया, लेकिन खरीदार मुसलिम होने की वजह से सोसायटी के लोगों ने मकान दिखाने तक नहीं दिया. तब पलानी ने सौदा रद्द कर दिया. उन्होंने कहा कि चूंकि खरीदार बेहद करीबी मित्र के जरिए आए थे, इसलिए मुझे प्रॉपर्टी दिखाने में कुछ गलत नहीं लगा. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.