पटना में पोस्टर-पोस्टर खेल रहे हैं राजद व जदयू

Samachar Jagat | Wednesday, 19 Feb 2020 10:45:24 PM
1494157893103919

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बिहार में पोस्टर वार जारी है. लगभग हर रोज नए पोस्टर जारी हो रहे हैं. इन पोस्टरों के जरिए राजद और जदयू एक दूसरे पर हमला कर रहे हैं. पोस्टरों की इस जंग में बीच-बीच में कांग्रेस व रालोसपा भी कूद पड़ती है. इस पोस्‍टरबाजी में अब जनत दल यूनाइटेड (जदयू) का नया पोस्टर सामने आया है. जदयू के पक्ष में जारी इस पोस्‍टर में राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की 'बेरोजगारी हटाओ यात्रा' पर सवाल खड़ा करते हुए उनकी बस को राक्षस की तरह दिखाया है. पोस्‍टर पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद ने इसे जदयू की हताशा का नतीजा बताया है.

बिहार में करीब ढ़ाई महीने से सियासी पोस्‍टर वार चल रहा है. इस जंग में जदयू व राजद के बीच शह और मात का खेल चल रहा है, लेकिन कभी-कभी कांग्रेस व रालोसपा सहित दूसरे दल भी शामिल हो जाते हैं. हाल ही में कांग्रेस ने अपना पोस्‍टर जारी कर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर आरक्षण समाप्‍त करने की साजिश का आरोप लगाया था. साथ ही यह भी कहा कि जब-जब भारतीय जनता पार्टी व नीतीश साथ रहे, ऐसी साजिशें होती रहीं हैं. इससे पहले शिक्षा और बेरोजगारी के सवाल पर रालोसपा ने नीतीश कुमार और उनकी सरकार को घेरते हुए सवाल किए थे. वैसे जदयू व राजद के एक-दूसरे को निशाना साधते पोस्‍टर लगातार जारी हो रहे हैं. इसी कड़ी में जदयू ने नया पोस्‍टर जारी किया है.

जदयू के नए पोस्टर में तेजस्वी यादव की उस बस पर सवाल खड़े किए हैं, जिससे वे अपनी 'बेरोजगारी हटओ यात्रा' पर निकलने वाले हैं. राक्षस की तरह दिखाए गए इस बस पर तेजस्वी यादव और लालू प्रसाद यादव खड़े हैं. पोस्टर पर उस अतिपिछड़ा व्यक्ति को भी दर्शाया गया है जो गरीबी रेखा ने नीचे की सूची में होते हुए भी बस का मालिक है. जदयू ने इसे एक अति पिछड़ा के साथ आर्थिक जालसाजी बताते हुए अति पिछड़ा वर्ग की राजनीति को गर्म करने की कोशिश की है. तेजस्‍वी की रथयात्रा वाली बस एक अति पिछड़ा व्‍यक्ति के नाम पर एक पूर्व विधायक ने खरीदी है. जदयू नेता व मंत्री नीरज कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए तेजस्‍वी यादव व राजद से जवाब मांगा था. इसपर बस मालिक ने खुद को ठेकेदार व आयकर दाता बताते हुए जदयू नेता के आरोपों को गलत बताया था.

पोस्‍टर पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद ने कहा कि जदयू के पास कहने को कुछ बचा नहीं है, जदयू तेजस्वी की बेरोजगारी हटाओ यात्रा से घबरा कर सवाल खड़ा कर रहा है. जब बस के बारे में पहले ही बताया जा चुका है कि उसका मालिक गरीबी रेखा के नीचे का व्‍यक्ति नहीं, आयकर दाता ठेकेदार है, तब ऐसी बात क्‍यों कही जा रही है. जदयू ने पोस्‍टर के माध्‍यम से अति पिछड़ा वर्ग को अपने पाले मे करने की कोशिश की है.

इससे पहले कांग्रेस ने अपने पोस्‍टर में आरक्षण कार्ड खेला था. 'साजिश-3' के नाम से पटना के चौक-चौराहों पर लगाए इन पोस्टरों में कांग्रेस ने बताया है कि जब-जब भाजपा और नीतीश कुमार साथ रहे, तब-तब साजिशें होती रहीं हैं. पोस्‍टर में साजिश नंबर एक के तौर पर गोधरा कांड को बताते हुए कहा गया कि उस समय नीतीश कुमार राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में रेल मंत्री थे. नागरिकता संशोधन कानून को साजिश नंबर दो बताते हुए कहा गया कि नीतीश कुमार ने कानून बनाने में भाजपा का साथ दिया. साजिश नंबर तीन में कहा गया कि अब भाजपा आरक्षण खत्म करने जा रही है, जिसका नीतीश कुमार साथ दे रहे हैं.

दिल्ली विधानसभा के चुनाव में वैसे तो भाजपा-जदयू और राजद की करारी हार हुई है, लेकिन अब असली लड़ाई बिहार में बाकी है. बिहार में राजद और जदयू के बीच इसी वजह से पोस्टरों के जरिए जंग लड़ी जा रही है. रोज नए पोस्टर जारी कर दोनों दल एक दूसरे पर हमले किए जा रहे हैं. इसे चुनावी तैयारी या भी कह सकते हैं लेकिन ये पोस्टर लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच रहे हैं. पटना के मुख्य चौराहे पर जदयू ने पोस्टर लगाया गया है, जिसमें लालू प्रसाद यादव को गॉगल्स लगाए हीरो की तरह दिखाया गया है और पोस्टर में लिखा है- लारा फिल्मस प्रेजेंट्स ठग्स ऑफ बिहार.

पोस्टर के नीचे लिखा है जरा याद करो वो कहानी पुरानी. पटना के डाकबंगला चौराहा और आयकर गोलंबर पर यह पोस्टर लगया गया है. हालांकि पोस्टर किसने लगवाया है, यह ठीक-ठीक पता नहीं लेकिन कहा जारहा है कि जदयू ने ही पोस्टर लगाया है. पता नहीं चल सका है. इससे पहले जदयू के सिंहासन वाले पोस्टर के जवाब में राजद ने मंगलवार को फिर से दो नया पोस्टर जारी किया. एक पोस्टर में लिखा था 2020 नीतीश कुमार फिनिश,

दूसरे पोस्टर में राजद ने बिहार के नक्शे को तीर से घायल दिखाया, जिससे खून निकल आया है. इसके साथ ही शिक्षा, स्वास्थ, बेरोजगारी, घोटाला, भ्रष्टाचार, बिगड़ती कानून-व्यवस्था जैसे कई मामलों पर पोस्टर के जरिए जदयू के तीर चलाए गए हैं. राजद ने सुबह में नारा दिया- 2020, नीतीश कुमार फिनिश. इसके बाद शाम में एक और पोस्‍टर जारी कर लिखा- लहूलुहान हुआ बिहार, शिकारी है सरकार. पोस्‍टरों में बिहार में भ्रष्‍टाचार व घोटाले के साथ गिरती कानून व्‍यवस्‍था को लेकर सवाल उठाए गए हैं. साथ ही तेजस्‍वी यादव को विकास पुरुष भी बताया है. 

राजद व जदयू में जारी पोस्‍टर वार में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर करीब ढ़ाई महीने से जारी है. इसमें कभी-कभी इससे पहले जदयू के समर्थन में जारी पोस्‍टर में लालू प्रसाद यादव को भ्रष्टाचार का जन्मदाता बताया गया था. इसके जवाब में राजद के जारी पोस्‍टर में बिहार को जदयू के तीर से घायल दिखाया गया है. पोस्‍टर में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार खड़े तो उप मुख्‍यमंत्री सुशील मोदी कुर्सी पर बैठे दिखाए गए हैं. पोस्‍टर पर ऊपर लिखा है- लहू लुहान हुआ बिहार, शिकारी है सरकार. नीचे बिहार में भ्रष्‍टाचार, घोटाला, अशिक्षा, बेरोजगारी, ठप विकास व गिरती कानून व्‍यवस्‍था की चर्चा है. 

इससे पहले जदयू के पोस्‍टर में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और उनके बेटे तेजस्‍वी की तस्‍वीर देते हुए लालू को भ्रष्टाचार का जन्मदाता बताया गया था. पोस्‍टर में लालू परिवार पर धोटालों व संपत्ति बटोरने के आरोप लगाए गए. यह तंज भी किया गया कि बिल्लियां कब से दूध की पहरेदारी करने लगीं. जदयू का यह पोस्‍टर राजद के उस पोस्‍टर का जवाब था, जिसमें नीतीश कुमार को निशाने पर लिया गया था. उस पोस्टर में राजद ने नीतीश को निशाने पर लेते हुए काम नहीं करने और पंद्रह साल के शासनकाल में काल्पनिक डर दिखाने व सरकारी खर्च पर पब्लिसिटी करने के आरोप लगाए.

साथ ही नीतीश पर माफिया को आवास पर बुलाने, अपराधियों को पनाह देने, जनता को भ्रम में रखने, पटना को डुबोने, मीडिया में झूठी तारीफ कराने और चेहरा चमकाने के आरोप भी लगाए गए थे. राजद का यह पोस्‍टर जदयू की ओर से जारी उस पोस्टर का जवाब था, जिसमें लालू यादव के लिए लिखा था- परिवार मोह के प्यार में, पहुंच गए होटवार में. पोस्‍टर में लालू-राबड़ी राज के दौरान हुए नरसंहारों व भ्रष्टाचार की भी चर्चा थी. कांग्रेस ने भी पोस्टर जारी कर नीतीश कुमार से उनसे पुराने वादों का हिसाब मांगा था. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.