कोरोना वायरस के खतरों के बीच धारावाहिक रामायण देखते केंद्रीय मंत्री

Samachar Jagat | Monday, 30 Mar 2020 06:03:19 AM
1592026665376210

कोरोना वायरस के खतरे के बीच ही केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जनता की मांग को देखते हुए डीडी नेशनल पर धारावाहिक 'रामायण' का प्रसारण को लेकर जानकारी दी थी. हालांकि अब सरकार का यह फैसला सवालों में है. सवालों में तो खुद प्रकाश जावेड़कर भी हैं. दरअसल उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट भी किया. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा कि मैं रामायण देख रहा हूं और आप. ट्वीट के साथ उन्होंने धारावाहिक देखते हुए अपनी फोटो भी साझा की थी. इसके बाद सरकार को कठघरे में खड़ा जाने लगा. लोगों ने कहा कि एक तरफ लोग परेशान हैं और दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री एसी कमरे में बैठ कर धाराविहक देख रहे हैं. इससे समझा जा सकता है कि सरकार कोरोना वायरस से लड़ने में कितनी गंभीर है.

इसी तरह की तसवीरें केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्वनी कुमार चौबे और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई. सरकार की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अंतराक्षी खेल रहीं थीं तो दूसरी तरफ इसी तरह का सुझाव दे कर सरकार का मजाक उड़ाते रहे हैं. अब प्रकाश जावड़ेकर के इस ट्वीट पर रालोसपा प्रमुख व पूर्व केंद्रीय मंत्री ने निशाना साधा और कहा कि विपत्ति के समय भी राजनीति, जले पर नमक ! भगवान भला करें इनका.

संजय खान की बेटी फराह खान अली ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी. वैसे बहुत ज्यादा आलोचना हुई तो प्रकाश जावड़ेकर ने अपना यह ट्वीट हटा लिया. फराह खान अली ने प्रकाश जावड़ेकर के ट्वीट पर लिखा कि मैं आपको घर पर आराम से बैठा हुआ देख रही हूं, जबकि कई प्रवासी श्रमिक भोजन और पानी के बिना मीलों की यात्रा करते हुए अपने गांवों की ओर चल रहे हैं. फराह खान अली ने इस तरह प्रकाश जावड़ेकर पर निशाना साधा था.

केंद्रीय मंत्री ने इससे पहले दर्शकों को रामायण देखने की याद दिलाते हुए एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि डीडी नेशनल पर सुबह व रात को नौ बजे 'रामायण' देखें और डीडी भारती पर दोपहर बारह और शाम सात बजे 'महाभारत' देखें. 'रामायण' की बात करें तो यह धारावाहिक नब्बे की दशक में दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल पर दिखाया जाता था. रामानंद सागर की 'रामायण' ने ऐसा करिश्मा कायम किया था, जिसकी चर्चा आज भी होती है. इस सीरियल के आने के दौरान लोग टीवी के सामने बैठ जाते थे और सड़कें व गलियां सूनी हो जाती थीं. कई लोग श्रद्धा के कारण हाथ जोड़कर शो को देखते थे. लोग सीरीयल में काम करने वाले कलाकार अरुण गोविल (राम), दीपिका (सीता) को भगवान की तरह पूजते भी थे.

लेकिन प्रकाश जावड़कर इकलौते मंत्री नहीं थे. केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे की भी ऐसी ही एक तस्वीर सामने आई. अश्विनी चौबे अपने परिवार के साथ घर में बैठे दूरदर्शन पर रामायण सीरियल देख रहे हैं. यह तस्वीर सामने आने के बाद अश्विनी चौबे सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए. फेसबुक से लेकर ट्विटर तक अश्विनी चौबे की इस तस्वीर को साझा करते हुए लोग उनकी निश्चिंता पर टिप्पणी करते रहे. लोग लगातार यह कह रहे हैं कि आखिर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री होने के बावजूद अश्विनी चौबे इतने आराम से क्यों है. क्या उन्हें कोरोना वायरस का डर नहीं सता रहा है. क्या अश्विनी चौबे को देशवासियों की फिक्र नहीं है. क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग का एलान किया है. अश्विनी चौबे इतने आरामदायक मुद्रा में क्यों है. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.