तो महाराष्ट्र में बन गई बात, शिवसेना के उद्धव ठाकरे होंगे नए मुख्यमंत्री

Samachar Jagat | Saturday, 23 Nov 2019 07:23:43 AM
1594462433175549

महाराष्ट्र में सरकार गठन का रास्ता अब साफ हो गया है और लगभग सारी अड़चनें दूर हो गईं हैं. यह भी तय हो गया है कि महाराष्ट्र में अब मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा. शुक्रवार की शाम को राकांपा प्रमुख शरद पवार ने इसकी औपचारिक घोषणा की और इसी के साथ करीब एक महीने से सरकार गठन को लेकर चल रहा गतिरोध पर भी फुल स्टॉप लग गया. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. ठाकरे परिवरा के वे पहले सदस्य होंगे जो सत्ता के शीर्ष पद पर बिराजमान होंगे. महाराष्ट्र में एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस के बीच सरकार के गठन को लेकर अंतिम फैसला लिया जा चुका है. इस बात के साफ संकेत मिले हैं कि शिवसेना का मुख्यमंत्री पूरे पांच साल के लिए बनेगा. दो उप मुख्यमंत्री कांग्रेस और एनसीपी के बनेंगे और दोनों पांच साल तक रहेंगे.

मुंबई में एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना की बैठक के बाद कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि हम तीनों पार्टियों की सरकार के गठन को लेकर चर्चा हुई. चर्चा सकारात्मक हुई. इसमें तीनों पार्टियों के नेता उपस्थित थे. लेकिन अभी पूरी चर्चा नहीं हुई है. कल भी बात होगी. उन्होंने कहा कि हम तीनों दलों ने सभी मुद्दों पर सकारात्मक चर्चा की. फिलहाल बातचीत पूरी नहीं हुई है. तीनों के बीच बातचीत कल भी जारी रहेगी.

इससे पहले शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की बैठक के बीच में शरद पवार और उद्धव ठाकरे बाहर आए. दोनों ही नेताओं ने कहा है कि चर्चा अभी जारी है. शरद पवार ने कहा कि बैठक में उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने पर सहमति बनी है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि सभी विषयों पर चर्चा सही दिशा में जा रही है.

काफी लंबी कवायद के बाद महाराष्ट्र में सरकार के गठन को अंतिम रूप दिया जा रहा है. शिवसेना चाहती थी कि उसे मुख्यमंत्री पद पांच साल के लिए मिले. हालांकि एनसीपी चाहती थी कि ढाई साल उसका और ढाई साल शिवसेना का मुख्यमंत्री रहे. अंतिम दौर में एनसीपी और कांग्रेस शिवसेना की इच्छा पर सहमत हो गईं.

पहले चर्चा थी कि एनसीपी और शिवसेना के मुख्यमंत्री का कार्यकाल ढाई-ढाई साल का होगा. एनसीपी के सीएम के कार्यकाल के दौरान ढाई साल शिवसेना का उप मुख्यमंत्री और शिवसेना के कार्यकाल के दौरान ढाई साल एनसीपी का उप मुख्यमंत्री रहेगा. फिलहाल सूत्रों के मुताबिक यह तय हो गया है कि शिवसेना का मुख्यमंत्री पांच साल तक रहेगा.

फिलहाल यह तो साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री के रूप में शिवसेना के उद्धव ठाकरे शपथ लेंगे. दो उप मुख्यमंत्री कांग्रेस और एनसीपी के पांच साल के लिए होंगे. एनसीपी का विधानसभा अध्यक्ष होगा. तीनों दलों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम के मुताबिक समन्वय बनाकर चला जाएगा. शिवसेना को शहरी विकास मंत्रालय मिल सकता है. एनसीपी को गृह और लोक निर्माण विभाग मिलने के आसार हैं.

सूत्रों के अनुसार तीनों दलों के बीच अभी कुछ मुद्दों पर सहमति बनना बाकी है. इसमें शिरडी के साईं बाबा संस्थान सहित अन्य कुछ प्रसिद्ध संस्थानों के प्रशासन सहित मुंबई, पुणे जैसे शहरों के पुलिस कमिश्नरों की नियुक्ति के मामले, प्रमुख जिलों के लिए मंत्रियों के प्रभार जैसे मुद्दों पर चर्चा जारी है. पहले निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक तीनों दलों को शुक्रवार को रात नौ बजे राज्यपाल से मुलाकात करके सरकार के गठन का दावा पेश करना था, लेकिन सभी मुद्दों पर सहमति न बनने के कारण अब कल चर्चा के बाद सरकार का दावा पेश किए जाने की संभावना है. राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.