कमल के इस्तीफे से मध्यप्रदेश में कमल तो खिला, लेकिन मुख्यमंत्री पर मंथन

Samachar Jagat | Sunday, 22 Mar 2020 08:26:50 AM
1749534033592990

मध्यप्रदेश में नए मुख्यमंत्री के नाम पर मंथन शुरू हो गया है. भाजपा के लिए सब कुछ आसाना नहीं है. इसलिए सवाल सामने है कि मध्यप्रदेश का नया मुख्यमंत्री कौन होगा. कमलनाथ के इस्तीफे के बाद यह सवाल और भी शिद्दत से पूछे जा रहे हैं. भाजपा सूत्रों के मुताबिक शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री पद के संभावित उम्मीदवारों में तो हैं. कमल नाथ के इस्तीफे के साथ ही भाजपा के नेतृत्व में नई सरकार के गठन की कवायद तेज़ हो गई है. भाजपा सूत्रों के मुताबिक शिवराज सिंह मुख्यमंत्री की रेस में तो हैं. लेकिन उनके अलावा कई और नाम भी दौड़ में हैं. भाजपा केंद्रीय नेतृत्व जल्द ही इस बारे में फैसला कर सकता है. पूर्व केंद्रीय मंत्री सत्यनारायण जटिया ने बताया कि पार्टी के पास योजना है. उम्मीद है कि कोई कठिनाई नहीं होगी. भाजपा के पास अनुभवी नेतृत्व है . परंपरा के आधार पर नेतृत्व का चयन होगा. विधायक दल नए मुख्यमंत्री का चयन करेगा, यह प्रक्रिया केंद्रीय नेतृत्व के मार्गदर्शन में होगी. कर्नाटक में भी ऐसा ही हुआ.



loading...

वैसे शिवराज को पार्टी के भीतर से कड़ी चुनौतियां भी मिल रही हैं. नरोत्तम मिश्रा से लेकर नरेंद्र सिंह तोमर तक के नाम हवा में हैं. इसलिए कोई खुल कर कुछ नहीं बोल रहा. कमलनाथ के इस्तीफे के कुछ ही मिनटों बाद पत्रकारों ने जब कृषि और ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से पुछा कि क्या वे भोपाल जाने को तैयार हैं तो वे कुछ भी बोलने से बचते दिखे. जब तोमर से पूछा गया कि वे केंद्र की राजनीति में रहेंगे या राज्य की राजनीति में जाने को तैयार हैं, इस पर उन्होंने कहा कि पार्टी की बैठक होने दो. क्या होता है वे देखंगे. कमलनाथ सरकार के जाने के बाद भाजपा केंद्रीय नेतृत्व के सामने चुनौती सबकी सहमति से मुख्यमंत्री चुनकर राज्य में एक स्थिर सरकार चुनने की होगी.

इसके अलावा उसने इन सभी विधायकों को भी संतुष्ट करना होगा जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा के साथ आए हैं. इस बीच मध्य प्रदेश में सिंधिया समर्थक कांग्रेस के बाईस बागी विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक ट्वीट के जरिए जानकारी दी है. उन्होंने लिखा कि मध्य प्रदेश के विकास प्रगति और उन्नति के अपने संकल्प के साथ कांग्रेस के सभी बाईस पूर्व विधायक जो मेरे परिवार के सदस्य हैं, उन्होंने आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के निवास पर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है.

पहले इन नेताओं से हाल ही में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की. इसके बाद सभी भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर पहुंचे. इस दौरान कैलाश विजयवर्गी, नरेंद्र सिंह तोमर और धर्मेंद्र प्रधान समेत कई नेता मौजूद रहे. इससे पहले ये सभी पूर्व विधायक एक चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली पहुंचे थे. संभावना जताई जा रही है कि आज रात ही भोपाल रवाना हो जाएंगे. इन विधायकों के इस्तीफे के बाद मध्य प्रदेश में पंद्रह महीने पुरानी कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी और कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.