लूट और भ्रष्टाचार के जरिए राजद और जदयू का पोस्टर वार

Samachar Jagat | Friday, 07 Feb 2020 07:08:54 AM
1886218234147777

बिहार में सियासत अब पोस्टरों से हो रही है. जदयू और राजद पोस्टरों की सियासत में मशगूल हैं. राजद मुद्दों की बजाय पोस्टर वार में ही मशगूल है. देश में सीएए, एनआरसी और एनपीआर पर कोहराम मचा है. शहर-शहर शाहीन बाग बना हुआ है. लोग सड़कों पर है लेकिन राजद इसे लेकर बहुत आक्रामक नहीं है. उसने बिहार बंद जरूर जनवरी में बुलाया. तेजस्वी यादव ने सीमांचल में एकाध सभाएं जरूर कीं लेकिन जिस शिद्दत के साथ उसे इस मुद्दे पर सड़कों पर उतरना था वह नहीं कर पारहा है. राजद क्यों तमाशाई बना हुआ है, सियासी हलकों में इसे लेकर सवाल उठ रहे हैं. लोकसभा चुनाव के बाद से ही राजद मुद्दाविहीन राजनीति में ज्यादा लगा हुआ है. पार्टी के युवा चेहरा जमीन पर कम ट्वीटर पर ही ज्यादा सियासत कर रहे हैं. जाहिर है कि इससे पार्टी की एक नकारात्मक छवि लोगों के बीच जा रही है. महागठबंधन में शामिल उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ही ज्यादा मुखरता के साथ बिहार में कार्यक्रम चला रही है. यह जरूर है कि पिछले साल नवंबर से ही राजद और जदयू पटना में पोस्टर-पोस्टर खेल रहे हैं. नई बात यह है कि अब पोस्टरों के इस खेल में कांग्रेस ने भी अपनी जगह बना ली है.



loading...

रोज नित-नए सियासी पोस्टर पटना में दिखाई दे रहा है. पहले तो पोस्टर वॉर राजद और जदयू के बीच चल रहा था, लेकिन अब कांग्रेस भी इस पोस्टर वॉर में कूद पड़ी है और उसने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पुराना हिसाब मांगा है. राजद प्रमुख लालू यादव के जिन्न वाले पोस्टर के बाद पटना में उन्हें लेकर ही नया पोस्टर देखने को मिला है, जिसपर लिखा है परिवार मोह के प्यार में पहुंच गए होटवार में. जिस धरा पर नरसंहारों में रक्त गिरे, उसका शासक नाकारा था. वहीं एक कविता के जरिए पोस्टर में लालू को भ्रष्टाचारी, जातिवाद और परिवारवाद को बढ़ावा देने वाला नेता बताया गया है. साथ ही पोस्टर पर लिखा है धंधे मातरम्, धंधे मातरम् और सिर्फ धंधे मातरम्.

तो वहीं अब इस पोस्टर-वार में कांग्रेस भी शामिल हो गई है और पार्टी की ओर से गुरुवार को पोस्टर जारी किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हिसाब मांगा गया है. पोस्टर पर लिखा है-हिसाब दो पुराने वादों का. विशेष राज्य का दर्जा, गरीबों का पलायन रोकना, अपराध पर लगाम, नई फैक्ट्री, रोजगार, महिला अत्याचार, कृषि क्षेत्र में उत्थान मुद्दों का. कांग्रेस की तरफ से पोस्टर लगाने वाले कार्यकर्ता सिद्धार्थ क्षत्रिय ने बताया कि जदयू पोस्टर लगाकर लोगों को मुख्य मुद्दे से भटका रही है. इनको पहले यह जवाब देना चाहिए कि पिछले पंद्रह साल में जो वादे किए गए थे, वह पूरे क्यों नहीं हुए.

इससे पहले एक पोस्टर दिखा था जिस पर लालू और जिन्न की तस्वीरें थीं. जिन्न लालू से कह रहा था अब तेरी बातों में नहीं आनेवाला. साथ ही ढेर सारी तस्वीरों के साथ पोस्टर की दूसरी तरफ लिखा था-लो, देख लो. इससे पहले राजद ने पोस्टर जारी कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर निशाना साधा था. राजद ने उन्हें कुर्सी का प्यारा बताया था. पोस्टर में पिछले साल सितंबर में पटना के जल जमाव के बाद की भयावह स्थिति को दिखाया गया था.

तस्वीर में नीतीश कुमार पुलिस की ड्रेस पहने एक कुर्सी पर बैठे हैं और उनके ठीक पीछे सुशील मोदी हाथ में कमल और तीर लिए खड़े हैं. पोस्टर पर राजद ने लिखा था- कुर्सी के प्यारे और बिहार के हत्यारे. लुट रहा है बिहारी और लुट रहा बिहार, कुर्सी-कुर्सी खेल रही खिलाड़ी सरकार. किया शोषण उत्पीड़न और अत्याचार, दिया बेरोजगारी और भ्रष्टाचार. चोरी से आई चोर सरकार, ले डूबी पूरा बिहार.

बिहार में नवंबर 2019 में सबसे पहले जदयू ने पोस्टर जारी कर कहा था कि क्यूं करें विचार ठीके तो है नीतीश कुमार. राजद ने इसे लेकर जदयू पर पोस्टर जारी कर निशाना साधते हुए लिखा था क्यों न करें विचार, बिहार जो है बीमार. इसके बाद से ही दोनों दलों में पोस्टर वार शुरु हो गया था. राजद ने नीतीश सरकार को ट्रबल इंजन और लूट एक्सप्रेस बताया था फिर दूसरे पोस्टर में कुर्सी के प्यारे और बिहार के हत्यारे कह कर नीतीश कुमार पर तंज कसा गया था. पोस्टर में एक कविता लिखी थी और इसके साथ ही एक तरफ कुर्सी से बंधे नीतीश कुमार का कार्टून बनाकर नीचे डूबता हुआ बिहार दिखाया गया था.

इससे पहले जदयू ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद को लेकर पोस्टर लगाया था. पोस्टर में एक ट्रेन को चित्रित कर लालू की एक तस्वीर बनाई गई. ट्रेन को ‘करप्शन मेल’ बताया गया था, जबकि लालू की तस्वीर में उनके हाथ में ‘अपराध गाथा’ की पुस्तिका दिख रही थी. इस पोस्टर पर बनी ट्रेन पर लिखा है ‘पटना से होटवार’ और उसके आगे ‘करप्शन एक्सप्रेस’ और स्वार्थी लिखा था. नए पोस्टर के बाद जदयू का पोस्टर आना तय है. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.