कोरोना वायरस को लेकर फर्जी खबरें चलाने पर ओवैसी को आया गुस्सा

Samachar Jagat | Wednesday, 08 Apr 2020 05:52:38 PM
2020563343075097

कोरोना वायरस संकट के बीच ही अफवाहों का बाजार गर्म है. तबलीगी जमात से जुड़े कई फर्जी पोस्ट वायरल हैं. समाचार चैनलों के मशहूर ऐंकरों से लेकर समाचार चैनलों ने सोशल मीडिया पर खूब अफवाहें भी फैलाईं. लेकिन पुलिस ने इसे फर्जी बताया और महाराष्ट्र में तो कई समाचार चैनलों पर फर्जी खबर प्रसारित करने और एक धर्म विशेष के खिलाफ एजंडा चलाने के लिए मुकदमा भी दर्ज किया गया है. इस तरह की अफवाह फैलाने वालों पर सरकार की चुप्पी भी सवाल खड़े कर रही है क्योंकि माना जा रहा है कि भाजपा आईटी सेल इस तरह की फर्जी खबरों को परोसने में लगा है. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी भाजपा आईटी सेल पर बिना नाम लिए निशाना साधा था. हालांकि सोशल मीडिया पर ही इन खबरों की सच्चाई भी तलाश कर इसका विरोध भी हो रहा है. चैनलों में बैठ ऐंकरों का रवैया किस तरह का है, यह इसी से समझा जा सकता है कि एक चैनल के ऐंकर ने तो तबलीगी जमात को तालिबानी जमात तक कह डाला. उन्हें जब टोका गया तो वे साफ मुकर गए. इसी तरह की खबरों से देश का माहौल बिगड़ रहा है. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मुसलमानों को बदनाम करने के लिए फर्जी खबर चलाने का आरोप लगाया.

असदुद्दीन ओवैसी ने भी ट्वीट करके भाजपा पर जोरदार निशाना साधा. ओवैसी का कहना है कि लॉकडाउन और कोरोना वायरस की आलोचना से बचने के लिए ऐसा प्रयास किया जा रहा है. असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि बिना योजना बनाए लागू किए गए लॉकडाउन और कोविड-19 से नौसिखियों की तरह निपटने की कोशिशों की आलोचना से बचने का मिलाजुला प्रयास किया जा रहा है. भाजपा के प्रचारकों को मालूम होना चाहिए कि वे व्हॉट्सऐप फॉरवर्ड के ज़रिए कोरोना वायरस को नहीं हरा सकते. मुस्लिमों को बलि का बकरा बनाना कोरोना वायरस की दवा नहीं है, न ही यह पर्याप्त टेस्टिंग का विकल्प हो सकता है.

तबलीगी जमात के मामले के बाद से ऐसे मामले भी देखने को मिल रहे हैं, जिनमें कुछ लोग धार्मिक अतिवादिता को बढ़ावा दे रहे हैं. इस संबंध में निर्देशक और लेखक मिलाप जावेरी ने हाल ही में एक ट्वीट किया है, जो खूब सुर्खियां बटोर रहा है. मिलाप जावेरी ने ट्वीट किया कि सभी मुसलमान आतंकवादी नहीं हैं. सभी हिंदू कट्टरपंथी नहीं हैं. सभी मनुष्य परिपूर्ण नहीं हैं. लेकिन हम सभी को एक दूसरे का सम्मान करने की जरूरत है. हमें इस वायरस के खिलाफ लड़ाई में धर्म को बीच में लाने से रोकना चाहिए. हम भारतीय हैं. हम इंसान हैं. आइए हम भारत और दुनिया के लिए एक साथ लड़ाई लड़ें. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विशलेषण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.