30 साल पहले पिता ने संभाला था उड्डयन मंत्रालय, अब बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिली जिम्मेदारी

Samachar Jagat | Thursday, 08 Jul 2021 10:59:09 AM
30 years after father now son Jyotiraditya Scindia gets responsibility of aviation ministry

भोपाल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को उड्डयन मंत्रालय मिला है. दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले बुधवार शाम राष्ट्रपति भवन में मंत्री पद की शपथ ली थी. आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को इस कैबिनेट विस्तार में नागरिक उड्डयन मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है और सबसे खास बात यह है कि उनके पिता ने 30 साल पहले यही मंत्रालय संभाला था। जी हां, ग्वालियर वंश से ताल्लुक रखने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पांचवीं बार संसद पहुंचे हैं। आप जानते ही होंगे कि उनके पिता माधवराव सिंधिया कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे।

दरअसल, पीवी नरसिम्हा राव की सरकार में माधवराव सिंधिया नागरिक उड्डयन मंत्री थे। उन्होंने 1991 से 1993 तक राव सरकार में नागरिक उड्डयन और पर्यटन मंत्रालयों का कार्यभार संभाला। वह उस समय मनमोहन सिंह सरकार में ऊर्जा मंत्री (स्वतंत्र) प्रभार थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया अब अपने पिता की तरह नागरिक उड्डयन मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालेंगे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि माधवराव सिंधिया और ज्योतिरादित्य दोनों ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार संभालने से पहले केंद्र में मंत्रियों के रूप में कार्य किया।


ज्योतिरादित्य की बात करें तो उन्होंने मनमोहन सरकार में संचार और आईटी मंत्री के रूप में काम किया है। डाक व्यवस्था को पुनर्जीवित करने का श्रेय ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिया गया है। 2002 में पहली बार सांसद बने ज्योतिरादित्य ने अपने पिता माधवराव सिंधिया के निधन के बाद अपना राजनीतिक सफर शुरू किया और अब उनका सफर अच्छा चल रहा है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.