सोशल मीडिया पर भिड़े बाबुल सुप्रियो और अनुराग कश्यप तो स्वरा भास्कर ने दी प्रतिक्रिया

Samachar Jagat | Tuesday, 14 Jan 2020 08:44:13 PM
4131301501694431

देश के हालात विस्फोटक हैं. सीएए और एनआरसी पर बवाल मचा ही था कि जेएनयू के मामले ने तूल पकड़ लिया. देश भर में इसे लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. सोशल मीडिया में भी विरोध के स्वर तेज हो रहे हैं. रोज नए-नए हैशटैग के साथ मुद्दों को ट्रेंड कराया जा रहा है. हिंदी सिनेमा से जुड़े लोगों ने भी देश के हालात पर अपनी प्रतिक्रिया देने में कोताही नहीं की. अभिनेत्री दीपिका पादुकोण तो जेएनयू हिंसा के बाद बाकायदा परिसर में गईं और छात्रों के साथ एकजुटता दिखाई. अभिनेता मोहम्मद जीशान अय्यूब अपने बेबाक विचारों के लिए खूब जाने जाते हैं. फिल्मों में अपने अभिनय से पहचान बना चुके जीशान अय्यूब ने अपने ट्वीट से सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरी हैं. इन दिनों अभिनेता जेएनयू मामले को लेकर लगातार सोशल मीडिया पर खूब सक्रिय हैं. कई कलाकारों के साथ उन्होंने गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन भी किया था. लेकिन इससे इतर जीशान अय्यूब का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. इसमें उन्होंने बताया कि इस सरकार की सबसे बड़ी दिक्कत छात्र हैं. 

जीशान अय्यूब का सरकार को निशाना साधने वाला ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर सुर्खियां बटोर रहा है. अपने ट्वीट में जीशान ने लिखा कि दोस्तों इस सरकार की सबसे बड़ी दिक्कत छात्र हैं. अगली बार जब भी, जहां भी जमा हों, अपने हाथ में एक किताब रखें, कोई भी, अगर किताब मुश्किल हो तो अपने पास एक पेन ही रख लीजिए. आएं यह लड़ाई सब छात्र बनकर लड़ें. अपने ट्वीट के जरिए जीशान अय्यूब ने संदेश दिया कि अगली बार जब वेकिसी मुद्दे पर आवाज उठाएं तो एक छात्र बनकर उठाएं. जीशान अय्यूब के साथ स्वरा भास्कर, ऋचा चड्ढा, सयानी गुप्ता, अनुभव सिन्हा और अनुराग कश्यप जैसे कलाकार सोशल मीडिया पर हैं.

फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो के बीच ट्विटर पर ठन गई. दरअसल अनुराग कश्यप ने शिवम नाम के एक शख़्स को ट्विटर पर जवाब देते हुए लिखा कि बेटा तुम स्कूल गए होते तो भक्त न होते. बाक़ी- हम देखेंगे. बाबुल सुप्रियो ने अनुराग कश्यप को इसी ट्वीट पर घेर लिया और लिखा कि भाई, दो-तीन हिट फिल्म बना लो. बहुत निर्माता के पैसे डूब गए आपकी रिसेंट फिल्म में और टैलेंटेड एक्टर्स के करियर में ब्रेक लग लगा. बाबुल सुप्रियो ने आगे लिखा कि आप बहुत आगे निकल गए हैं भाई. कुछ तो मर्यादा रखें और अपने टैलेंट और स्टेटस के साथ न्याय करें. आप इस तरह अपमानजनक तरीके से प्रधानमंत्री को ट्रोल नहीं कर सकते हैं. अनुराग कश्यप सीएए, जेएनयू विवाद समेत तमाम मुद्दों पर लगातार प्रधानमंत्री पर हमलावर हैं. अनुराग कश्यप ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए लिखा था कि कभी कभी लगता है पाकिस्तान नहीं होता तो मोदी जी के पास बात करने के लिए भी कुछ नहीं होता. काम तो खैर वे वैसे भी तभी करते हैं जब आसपास कैमरा होता है. यह पहला मौका नहीं था जब अनुराग कश्यप ने किसी मुद्दे को लेकर मोदी पर निशाना साधा था.

दूसरी तरफ अभिनेत्री स्वरा भास्कर समसामयिक मसलों पर सोशल मीडिया पर लगातार अपनी राय रखती हैं और जेएनयू से लेकर सीएए और एनआरसी पर उन्होंने बहुत ही बेबाकी के साथ अपनी राय भी रखी है. स्वरा भास्कर उन कुछेक सशक्त आवाजों में से हैं जो सोशल मीडिया पर लंबे समय से सामाजिक हक की बात कर रही हैं. स्वरा भास्कर ने सामाजिक कार्यकर्ता और जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद के एक ट्वीट पर जवाब दिया है और अपने ट्वीट के जरिए इंडिया और न्यू इंडिया के अंतर को भी समझाया है. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र और सामाजिक कार्यकर्ता उमर खालिद का ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब पढ़ा जा रहा है.

उमर खालिद का यह ट्वीट पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लेकर है. उमर खालिद ने लिखा कि 2005 में मनमोहन सिंह को जेएनयू में उनकी आर्थिक नीतियों को लेकर काले झंडे दिखाए गए थे. यह एक बड़ी खबर बनी थी. प्रशासन ने तुरंत छात्रों को नोटिस भेजा था. अगले ही दिन प्रधानमंत्री ने हस्तक्षेप किया और प्रशासन से कहा कि छात्रों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाए क्योंकि विरोध करना उनका लोकतांत्रिक अधिकार है. उमर खालिद के इस ट्वीट पर स्वरा भास्कर ने उन्हें लिखा कि इंडिया और न्यू इंडिया के बीच यही फर्क था. इस तरह स्वरा भास्कर ने अपनी राय रखी है. स्वरा भास्कर का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.