जनता कर्फ्यू के बीच शाहीन बाग का प्रदर्शन

Samachar Jagat | Monday, 23 Mar 2020 08:13:44 AM
4306041147641486

कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरना जारी है. हालांकि महिलाओं ने भीड़ कम कर दी. शिफ्ट में महिलाएं आ रहीं हैं और कह रहीं हैं कि वे कोरोना वायरस से भी लड़ेंगी और सीएए व एनआरसी के खिलाफ भी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के दौरान भी दो-चार की तादाद में महिलाएं नजर आईं. हालांकि शाहीन बाग में धरना को लेकर लोग दो गुटों में बंटे. हालांकि बाद में सब कुछ ठीक हो गया. वैसे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी शाम पांच बजे तालियां और थालियां बजाती भीड़ की तसवीरें साझ कर सवाल कर रहे हैं कि सड़कों पर जो लोग जनता कर्फ्यू के दौरान उत्सव मना रह थे, तब शाहीन बाग के प्रदर्शन पर सवाल क्यों उठा रहे हैं.



loading...

जाहिर है कि इसका जवाब किसी के पास नहीं है. लेकिन कोरोना वायरस की वजह से जनता कर्फ्यू के आह्वान के बीच दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को बंद करवाने को लेकर दो गुट आपस में भिड़ गए. दोनों पक्षों में करीब आधे घंटे तक मारपीट और गालीगलौज हुई. एक पक्ष चाहता था कि प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के एलान का समर्थन किया जाए जबकि दूसरा पक्ष इसे मानने को तैयार नहीं था. इसी बात पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई. हालांकि, बाद में मामला शांत करवा दिया गया. बवाल के वक़्त स्टेज जिस से लोग भाषण देते हैं उसमें रखे समान को भी एक बार भीड़ ने उठा लिया था.

शाहीन बाग धरने के पास पुलिस बैरिकेड पर भी किसी ने पेट्रोल बम फेंका, जिससे विस्फोट हुआ. पुलिस बैरिकेड पर पेट्रोल बम मारे जाने की वजह से कोई घायल नहीं हुआ है. पुलिस का कहना है कि कोई शाहीन बाग के अंदर से गली से आया, जहां बाहर पुलिस हैं वहां से नहीं आया. शाहीन बाग में जिस शख्स ने पेट्रोल बम फेंका उसने जामिया यूनिवर्सिटी के बाहर भी गेट नंबर सात के सामने बम फेंका. इसमें कोई घायल नहीं हुआ. पेट्रोल बम फेंकने वाला शख्स बाइक पर सवार था. 

इससे पहले शनिवार को इंडिया इस्लामिक सेंटर में प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस की मीटिंग हुई थी, जहां दो पक्षों के बीच झगड़ा भी हुआ. एक ग्रुप चाहता है कि शाहीन बाग खुले. दूसरा चाहता है कि नहीं खुले. पुलिस मामले की जांच कर रही है. जनता कर्फ्यू के बीच शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने और कुछ महिलाओं ने पुलिस की बात नही मानी और करीब छह महिलाए आज भी प्रदर्शन में बैठी हैं. हालांकि बाकी महिलाएं और दूसरे प्रदर्शनकारी आज शाहीन बाग में प्रदर्शन की जगह से नदारद दिखे. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.