बांग्लादेशी क्रिकेटर मदद को आए आगे तो भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों पर उठे सवाल

Samachar Jagat | Monday, 30 Mar 2020 06:03:21 AM
616351473706042

दुनिया कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही है. संकट लगातार बढ़ रहा है. देश में भी इस संकट का दायरा बढ़ रहा है. खतरें को देखते हुए इस संकट से निपटने के लिए सरकार के साथ-साथ लोग भी अपने-अपनी तरीके से मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं. जिससे जो संभव बन पड़ रहा है, वह कर रहा है. अब बांग्लादेशी क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने बड़ा दिल दिखाते हुए अपने महीने का आधा वेतन कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रही सरकार के फंड में दान करने का फैसला किया है. इसकी खूब चर्चा हो रही है तो इसके बीच ही भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों पर सवाल भी खड़े हो रहे हैं. पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी भी अपनी संस्था के साथ मिल कर लोगों की मदद कर रहे हैं तो तेज गेंदबाज वकार यूनुस की पत्नी भी इस काम में लगी हैं. वे डाक्टर हैं और वकार यूनुस ने उनकी तारीफ की है.

बांग्लादेशी खिलाड़ियों की तारीफ तो हो रही है लेकिन भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों की असंवेदनशीलता पर फब्तियां भी कस रहे हैं लोग. क्योंकि हमारे करोड़पति क्रिकेट खिलाड़ी सिर्फ वीडियो साझा कर संदेश ही दे रहे हैं. इसलिए बांग्लादेश क्रिकेटरों का यह कदम इन अरबपति भारतीय क्रिकेटरों के लिए अपने आप में एक सदंश है. भारतीय कप्तान विराट कोहली दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले क्रिकेटर हैं. विराट के अलावा महेंद्र सिंह धोनी, सचिन तेंदुलकर सहित और भी बड़े नाम हैं, जो साल में करोड़ों रुपए कमाते हैं, लेकिन दिग्गजों ने अभी तक वीडियो संदेश देने के अलावा जेब से कोई रकम निकालने का एलान नहीं ही किया है. हालांकि इरफान पठान और यूसुफ पठान ने जरूर अपनी तरफ से गुजरात सरकार के लिए कुछ जरूरी उपकरण व मास्क मुहैया कराए हैं. बीसीसीआई ने भी काफी पसोपेश के बाद पचास करोड़ रुपए देने का एलान किया. पूर्व ऑलराउंडर सुरेश रैना ने भी पच्चीस लाख रुपए की रकम दान में दी है. बांग्लादेश के दिग्गज आलराउंडर शाकिब अल हसन रोज दो हजार लोगों को खाना खिला रहे हैं.

लेकिन लोगों के बीच आपस में इस बात की चर्चा पिछले कई दिनों से जोर-शोर से हो रही है कि हमारे दिग्गज अरबपति खिलाड़ी मुश्किल समय में आर्थिक मदद के लिए आगे क्यों नहीं आ रहे, जब मजदूर और दिहाड़ी कमाने वाले लोगों के सामने खाने-पीने का गंभीर संकट है. लोग इसे लेकर आलोचना करते हुए कह रहे हैं कि आखिर ये कैसे करोड़पति सितारे हैं. और यब अब मुश्किल समय में देशवासियों की मदद नहीं करेंगे, तो कब करेंगे. घर-घर इसी बात की चर्चा हो रही है और इस चर्चा में सिनेमा जगत के अरबपति भी निशाने पर हैं. हालांकि, बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने पचास लाख रुपए का चावल बांटने का एलान किया, लेकिन यह मदद आटे में नमक की तरह ही है. हालांकि सौरव गांगुली सरीखे और भी कई बड़े नाम हैं, जो आज के समय में सालाना करोड़ों रुपए की कमाई कर रहे हैं, लेकिन अभी इन्होंने मदद का एलान नहीं किया है. और इस बात की खूब चर्चा हो रही है. लोग पाकिस्तान और बांग्लादेश की मिसाल देते हुए वहां के खिलाड़ी की तारीफ कर रहे हैं जो अपनी जनता के लिए आगे आ रहे हैं.

रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश के 27 खिलाड़ियों ने अपने आधे महीने का वेतन दान करने करने का फैसला किया है. इनमें 17 क्रिकेटरों का बोर्ड से सालाना करार है और बाकी दस खिलाड़ियों ने बांग्लादेश का प्रतिनिधित्व किया है. खिलाड़ियों की तरफ से जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि पूरा विश्व कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है. यह बांग्लादेश में भी बढ़ रहा है. हम क्रिकेटर लोगों से महामारी को रोकने के लिए सोशल मीडिया पर जरूरी कदम उठाने के लिए जागरूकता फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. बयान में कहा गया है कि कर काटने के बाद दान की राशि करीब 25 लाख टका बैठती है. हो सकता है कि कोरोना से लड़ने में यह रकम पर्याप्त न हो, लेकिन अगर हम सभी अपने-अपने हिसाब से और संयुक्त रूप से योगदान दें, तो यह कोरोना से लड़ाई लड़ने में एक बड़ा कदम होगा. क्रिकेटरों का यह कदम तारीफ के काबिल है. खासतौर पर यह देखते हुए कि भारतीय सितारों की तुलना में बहुत ही मामूली पैसा कमाते हैं. 

इन सबके बीच ही क्रिकेटर हो या फिर फिल्मी कलाकार हर कोई सब से घरों में रहने की अपील कर रहा है. कोरोना वायरस के दहशत के बीच पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने अपने ट्विटर पर एक फोटो पोस्ट कि है जो उनके चाहने वालों के बीच काफी चर्चा बटोर रही है. दरअसल वकार ने अपने ट्विटर पर जो पोस्ट की है उसमें उनकी पत्नीडाक्टर फरयाल यूनिस हैं. फरयाल यूनिस पेशे से डाक्टर हैं, ऐसे में वो इस मुश्किल समय में अपना फर्ज निभाने के लिए कोरोना से संक्रमित लोगों की देख-रेख कर रहीं हैं. वकार ने फोटो पोस्ट कर लिखा है कि यह बेहद ही डरावना एहसास है जब फरयाल घर से अस्पताल के लिए निकलती हैं और जब वे वापस घर आती है तो काफी अच्छा अनुभव होता है.

वकार ने लिखा कि मैं गर्व से कह सकता हूं कि मेरी पत्नी हीरो है, लड़ते रहो. पाकिस्तान में भी कोरोना से काफी नुकसान पहुंच रहा है. पाकिस्तान में भी प्रधानमंत्री इमरान खान ने लॉकडाउन कर ऐलान किया हुआ है. वहां कोरोना वायरस से एक हजार से ज्यादा लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं. कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने भी लोगों के बीच जाकर मास्क, कीटाणुनाशक साबुन, सामग्री और भोजन दान में दिया है. (सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.