निर्भया बलात्कार के चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी, 22 जनवरी को दी जाएगी फांसी

Samachar Jagat | Wednesday, 08 Jan 2020 09:28:59 AM
852565670190398

दिल्‍ली के चर्चित निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म व हत्‍याकांड के चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जाएगी. दिल्ली की अदालत ने चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी कर सात साल पहले हुए इस जघन्य कांड के दोषियों को अंजाम तक पहुंचाया. इस मामले के चार दोषियों की फांसी की सजा को लेकर आज का दिन बेहद अहम रहा. दिल्‍ली का पटियाला हाउस कोर्ट चारों दोषियों के लिए डेथ वारंट जारी किया और 22 जनवरी को उनकी फांसी का दिन मुकर्रर किया. इससे पहले निर्भया के माता-पिता की कोर्ट में दायर डेथ वारंट याचिका पर कोर्ट में सुनवाई हुई. वीडियो कांफ्रेंस के जरिए चारों दोषियों ने अपनी बात रखी. सात साल पहले 16 दिसंबर 2012 की रात को दिल्‍ली की सड़क पर चलती बस में 23 साल की एक पारामेडिकल स्टूडेंट निर्भया के साथ छह लोगों ने सामूहिक दुष्‍कर्म किया, फिर हैवानियत की हदें पार कीं और मरने के लिए सड़क पर फेंककर चलते बने. बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया.

पुलिस ने मामले का उद्भेदन करते हुए सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार किया, जिनमें मुख्य आरोपी राम सिंह ने ट्रायल के दौरान तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली. एक अन्य नाबालिग आरोपी तीन साल बाल सुधार गृह में रहने के बाद छूट गया. बाकी चार पवन, मुकेश, अक्षय और विनय को कोर्ट ने मौत की सजा दी है. इस मामले में दिल्‍ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार की शाम डेथ वारंट जारी कर दिया. अगर इस फैसले को उपरी अदालत स्‍टे नहीं करती है तो चारो दोषियों को तिहाड़ जेल में 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी दे दी जाएगी. दिल्‍ली हाईकोर्ट के वकील नलिन लोचन सहाय बताते हैं कि क्‍यूरेटिव पेटिशन दायर होने पर सुप्रीम कोर्ट डेथ वारंट पर स्‍टे लगा सकता है. बताया जाता है कि दोषी अक्षय ने क्‍यूरेटिव पेटिशन दायर करने की बात कही है.

निर्भया मामले में सभी चार दोषियों के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट के डेथ वारंट जारी करने पर निर्भया की मां ने खुशी जाहिर की. उन्होंने कोर्ट रूम से बाहर आने के बाद कहा कि कोर्ट के इस फैसले से मैं बेहद खुश हूं. यह फैसला कानून के प्रति महिलाओं का विश्वास बढ़ाएगा. निर्भया के पिता ने कहा कि हमें इस दिन का लंबे समय से इंतजार था. जो फैसला आया है उससे हम बेहद खुश हैं. हमारे लिए इस महीने की 22 तारीख बहुत बड़ा दिन होगा जब इन दोषियों को फांसी होगी. 

दोषियों के खिलाफ मृत्यु वारंट जारी करने वाले अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा ने फांसी देने के आदेश की घोषणा की. मामले में मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता को फांसी दी जानी है. उधर, निर्भया की मां ने दोषियों की फांसी की सजा की तिथि मुकर्रर किए जाने के बाद कहा कि यह आदेश कानून में महिलाओं के विश्वास को बहाल करेगा. इससे पहले निर्भया की मां की याचिका पर कोर्ट में सुनवाई चली. उनकी मांग थी कि सभी दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी हो. इस मामले में कोर्ट ने कहा कि आप अपना वकालतनामा जमा करें. फिर दोषी मुकेश के वकील एमएल शर्मा ने कहा कि मैं आधे घंटे में जमा कर दूंगा. उनका कहना है कि मुकेश को जेल में प्रताड़ित किया जा रहा है. कोर्ट ने कहा कि एमएल शर्मा क्या आपने दोषी मुकेश से मुलाकात की है, इस पर वकील एमएल शर्मा ने कहा कि मुझे उनके परिवार ने पैरवी करने के लिए कहा है.

एमिकस क्यूरी वृंदा ग्रोवर ने कहा कि सब कुछ स्पष्ट हो जाना चाहिए की किसकी क्या भूमिका है. सरकारी वकील ने कोर्ट को बताया कि किसी भी दोषी की कोई याचिका पेंडिंग नहीं है, डेथ वारंट जारी किया जाए. निर्भया के वकील जितेंद्र झा ने कोर्ट से कहा कि दोषी क्यूरेटिव पिटीशन तभी दाखिल कर सकते हैं जब उनकी पुनर्विचार याचिका सर्कुलर के जरिए खारिज़ की गई हो. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.