कोरोना वायरसः रेलवे ने एसी कोच के यात्रियों से खुद कंबल लाने को कहा

Samachar Jagat | Sunday, 15 Mar 2020 09:14:20 PM
915857904231286

कोरोना वायरस ने देश में पांव पसार लिए हैं. सरकार ने भारत में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस को 'अधिसूचित आपदा' घोषित कर दिया है. इसके अलावा सरकार कोरोना पीड़ित परिवारों को मुआवजा और सहायता देगी. इसके लिए राज्यों के डिजास्टर रिस्पॉन्स फंड से मदद ली जाएगी और प्रभावित लोगों की मदद की जाएगी. इससे पहले सरकार ने कोरोना को स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने से



loading...

इनकार कर दिया था. कोरोना वायरस से यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए रेलवे ने भी दिशा-निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत रेलवे ने ट्रेनों के एसी कोच में यात्रा करने वाले यात्रियों से अनुरोध किया है कि वे अपेन कंबल घर से ही लेकर आएं. पश्चिम रेलवे के प्रवक्‍ता ने बताया कि रेलवे ने ट्रेनों के एसी कोचों में से पर्दे और कंबल हटाने का फैसला किया है. कोरोना वायरस से बचने के लिए ये फैसला लिया गया है. यात्रियों को सलाह दी गई है कि वे खुद के कंबल लेकर आएं क्‍योंकि ट्रेनों में इस्‍तेमाल होने वाले कंबल बिना धोए कई बार इस्‍तेमाल होते हैं.

दिल्‍ली में भी कोरोना को हरोन की पूरी तैयारी रेलवे ने की है. वायरस के प्रकोप और दहशत के मद्देनजर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को पोस्टर व डिजिटल स्क्रीन पर संदेश के जरिए जागरूक किया जा रहा है. सफाई पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है. जगह-जगह सेनिटाइजर रखे गए हैं और स्टाफ को मास्क दिए गए हैं. संक्रमित मरीजों के लिए यहां आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है. उत्तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक ने बताया कि यात्रियों को जागरूक करने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर बाद माइक से उद्घोषणा कराई जा रही है. पोस्टर लगाए गए हैं और डिजिटल स्क्रीन पर बताया जा रहा है कि कोरोना को लेकर क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि अगर किसी मरीज के कोराना संक्रमित होने का पता चलता है, तो उसे स्टेशन पर बने आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया जाता है. स्टेशन पर इन दिनों स्वच्छता पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. स्टेशन के दफ्तरों को भी सेनिटाइज किया जा रहा है. रेलिंग व सरफेस एरिया है, जिसे यात्री बार-बार छूते हैं, उसे भी तुरंत-तुरंत साफ कराया जा रहा है. हाथ धोने के लिए जगह-जगह सेनिटाइजर रखे गए हैं और स्टाफ को लगाने के लिए मास्क दिए गए हैं.

सीपीआरओ ने कहा कि अभी यह कह पाना मुश्किल है कि रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की संख्या में कितनी गिरावट हुई है. उत्तर रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि जब कोई यात्री टिकट रद्द करवाता है तो फॉर्म में यह नहीं लिखा रहता कि टिकट क्यों रद्द करवा रहा है. इसलिए कोरोना वायरस की वजह से कितने टिकट रद्द करवाए गए हैं, यह आंकड़ा बताना अभी मुश्किल है. देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 97 तक पहुंच गई है. कर्नाटक के बाद अब दिल्ली में भी एक बुजुर्ग महिला की मौत होने के बाद देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर दो हो गई है. तेजी से फैल रहे इस वायरस से बचाव के लिए दिल्ली सहित कई राज्यों में स्कूलों, कॉलेजों, सिनेमाघरों को 31 मार्च तक बंद रखा गया है. सार्वजनिक कार्यक्रम भी रद्द कर दिए गए हैं. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.