अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटने के संकेत दिए उद्धव ठाकरे ने

Samachar Jagat | Tuesday, 07 Apr 2020 08:20:06 AM
995049497860712

देश में कोरोना वायरस के खतरों के बीच ही अफवाहों का बाजार भी गर्म है. अफवाह फैलाए जा रहे हैं. अफवाहों की वजह से लोगों में दहशत भी है और गुस्सा भी. सोशल मीडिया पर लगातार लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले पोस्ट डाले जा रहे हैं. जिनका सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं है. इस तरह के पोस्ट डालने का मकसद सिर्फ विवाद खड़ा करना है. महाराष्ट्र सरकार ने इस तरह की अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए सख्ती के संकेत दिए हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के लोगों के लिए वीडियो संदेश जारी किया है.

उन्होंने कहा कि सोलापुर की आराध्या में अपने जन्मदिन के अवसर पर कोरोना के लिए मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में दान देकर उत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया है. होटल ताज और ट्राइडेंट ने डॉक्टरों ले रहने की जगह दी है. अभिनेता शाहरुख खान ने भी अपने दफ्तर की जगह दी है. मदद के लिए बहुत से लोग आगे आ रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने अफवाह फैलाना वालों की खबर ली है और सख्त लहजे में उन्हें चेताया है. उद्धव ने फर्ज वीडियो फैलाने वालों पर सख्ती के संकेत देते हुए कहा कि समाज के कुछ घातक वायरस भी हैं, इसलिए मैं उनको बताना चाहता हूं कि कोविड-19 से तो मैं अपनी जनता को बचा लूंगा, लेकिन उसके बाद तुम्हें मुझसे कोई नहीं बचा पाएगा. इसलिए कृपया कर गलत वीडियो न साझा करें.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने मुंबई में जांच केंद्र बढ़ाया है. इसलिए मरीजों की संख्या बढ़ती हुई दिख रही है, लेकिन 51 लोग ठीक भी हुए हैं. दुर्भाग्य से कुछ लोगों की मौत हो गई है. लेकिन वे बुजुर्ग थे, बीमार थे. कहने का मतलब यह कि हम सभी को अपने घर परिवार में बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखना है. उनसे विशेष दूरी बनाएं. अगली सूचना तक राज्य में कोई भी धार्मिक, राजनीतिक समारोह का आयोजन की इजाजत नहीं दी जाएगी. उद्धव ने कहा कि महाराष्ट्र में करीब पांच लाख मजदूरों (दूसरे राज्यों के और कुछ महाराष्ट्र के भी) के रहने, खाने की व्यवस्था की जा रही है. मैं अपेक्षा करता हूं कि दूसरे राज्य के मुख्यमंत्री उनके यहां महाराष्ट्र के कोई लोग फंसे हों तो उनका ख्याल रखें. महाराष्ट्र के लोगों को भी आवाहन है कि राज्य के बाहर उन्हें कोई तकलीफ है तो मुख्यमंत्री कार्यालय को सूचित करें. 

ठाकरे ने कहा कि हम सिर्फ कोविड-19 के इलाजों के लिए अस्पताल बढ़ा रहे हैं. मेरी विनती है कि जिसे भी कोरोना के लक्षण हो वे सिर्फ कोरोना टेस्ट होने वाले केंद्रों में ही जाएं. सामान्य अस्पतालों में नहीं. सिंगापुर के प्रधानमंत्री ने कहा है कि अगर घर से बाहर जाना जरूरी हो तो एन-90 मास्क की जरूरत नहीं. अगर मास्क नहीं हो तो घर पर रखे स्वच्छ कपड़े से अपने नाक मुहं सब ढंक कर जाएं. बाहर जाते समय अंतर बनाएं तभी कोरोना को दूर रख पाएंगे. मेरा खुद से ज्यादा आप लोगों पर भरोसा है. मुझमें आत्मविश्वास तो है ही. हम छत्रपति शिवाजी महाराज की भूमि से हैं. डरते नही हैं लड़ते हैं और जीतते हैं.(राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विशलेषण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.