रेलवे में रिक्त पदों को भरने की मांग उठी राज्यसभा में

Samachar Jagat | Tuesday, 17 Mar 2020 02:42:20 PM
 Demand for filling the vacant posts in Railways arose in Rajya Sabha

नयी दिल्ली, रेलवे के निजीकरण का विरोध करते हुुए मंगलवार को राज्यसभा में कहा गया कि रेलवे की विभिन्न सेवाओं में रिक्त पदों को शीघ्र से शीघ्र भरा जाना चाहिए जिससे युवाओं को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध हो सके।



loading...

बहुजन समाजवादी पार्टी के वीर सिह ने सदन में 'रेल मंत्रालय के कार्यकरण पर आगे चर्चा’ आरंभ करते हुए कहा कि रेल सेवाओं निजीकरण हो रहा है। सरकार ने 15० रेलगाड़यिां निजी सरकारी भागीदारी के तहत चलाने की घोषणा की है। इससे साफ है कि रेलवे की नौकरियों में अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए आरक्षण समाप्त हो जाएगा।

रेलवे देश में सबसे बड़ा रोजगार प्रदाता है लेकिन बहुत से पद रिक्त पड़े हैं। सरकार को इन पदों को जल्दी से जल्दी भरना चाहिए। उन्होंने कहा कि संभलपुर से गजरौला को रेललाइन के जरिए जोड़ा जाना चाहिए। इससे क्षेत्र के लोग बरेली और लखनऊ के जरिए देश के बाकी हिस्सों से जुड़ जाएगें।

 राष्ट्रीय जनता दल के मनोज झा ने रेलवे के निजीकरण का विरोध करते हुए कहा कि इससे देश को भविष्य में भारी नुकसान होगा। सरकारी संपत्ति निजी कारोबारियों के हाथ में जाएगी और रोजगार के अवसर खत्म हो जाएगें।


असम गण परिषद के विरेंद्र कुमार बैश्य ने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र में रेल नेटवर्क बढाया जाना चाहिए। क्षेत्र में रेललाइन का विद्युतीकरण का काम चल रहा है जिसमें तेजी लायी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र के दूर दराज के इलाकों को रेल तंत्र से जोड़ने से आम जनता को लाभ होगा और इनमें आर्थिक गतिविधियों में इजाफा होगा।

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के के.के. रागेश ने कहा कि रेल देश की एकता को प्रदर्शित करती है लेकिन सरकार इसे खत्म करने में तुली है। सरकार को रेल के इस पक्ष पर ध्यान देना चाहिए। रेल को अर्थव्यवस्था का इंजन कहा जाता है लेकिन सरकार इसे बेच रही है।

 उन्होंने निजीकरण का विरोध करते हुए कहा कि लचीले (फ्लैक्सी) किराये की व्यवस्था समाप्त की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि दुनिया में कहीं भी रेल का निजीकरण सफल नहीं रहा है और इसे फिर से सरकारी नियंत्रण में लाना पड़ा है। उन्होंने केरल के लिए प्रथम श्रेणी की सुविधाओं वाली रेलगाड़ी चलाने की मांग की।

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.