लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा : पीएम मोदी बोले - नए कृषि कानून राजनीति का विषय नहीं...यह देश की भलाई के लिए है, 21वीं सदी में 18वीं सदी की सोच नहीं चल सकती

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Feb 2021 05:39:40 PM
Discussion on vote of thanks in Lok Sabha: PM Modi said - new agricultural law is not a matter of politics ... It is for the good of the country, 21st century cannot be thinking of 18th century

इंटरनेट डेस्क। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में संग्राम जारी है। इसी बीच, आज बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उठे सवालों के जवाब भी दिए हैं।  प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्‍ट्रपति का अभिभाषण देशवासियों की संकल्‍पशक्ति का परिचायक है।

 

#WATCH LIVE: PM Modi replies in Lok Sabha to the Motion of Thanks on President’s Address.(Source: Lok Sabha TV) https://t.co/ilqOGpGGzH

— ANI (@ANI) February 10, 2021

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां एग्रीकल्चर समाज के कल्चर का हिस्सा रहा है। हमारे पर्व, त्योहार सब चीजें फसल बोने और काटने के साथ जुड़ी रही हैं। हमारा किसान आत्मनिर्भर बने, उसे अपनी उपज बेचने की आजादी मिले, उस दिशा में काम करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून राजनीति का विषय नहीं...यह देश की भलाई के लिए है। 21वीं सदी में 18वीं सदी की सोच नहीं चल सकती। किसानों को एक लंबी यात्रा के लिए तैयार होना होगा। हमने बीज से लेकर बाजार तक की व्‍यवस्‍था बदली है। सरकार की मंशा लोक कल्‍याण की है।

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि मांगने के लिए मजबूर करने वाली सोच लोकतंत्र की सोच नहीं हो सकती है। मैं हैरान हूं पहली बार एक नया तर्क आया है कि हमने मांगा नहीं तो आपने दिया क्यों। दहेज हो या तीन तलाक, किसी ने इसके लिए कानून बनाने की मांग नहीं की थी, लेकिन प्रगतिशील समाज के लिए आवश्यक होने के कारण कानून बनाया गया।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.