DRDO: बड़े पैमाने पर होगा कोरोना की दवा 2-DG का प्रोडक्शन, DRDO ने फार्मा कंपनियों से आमंत्रित किए आवेदन

Samachar Jagat | Wednesday, 09 Jun 2021 12:48:15 PM
DRDO invites EoI to transfer technology of 2-DG drug for bulk production

नई दिल्ली: डीआरडीओ ने 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज के निर्माण के लिए भारतीय फार्मा कंपनियों से ईओआई (रुचि की अभिव्यक्ति) मांगी है। 2-डीजी कोरोना संक्रमण के मरीजों के इलाज में मददगार दवा है। डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज की मदद से डीआरडीओ ने इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड अलाइड साइंसेज में विकसित किया है। दवा के क्लिनिकल नतीजे बताते हैं कि मरीजों को जल्दी ठीक होने में मदद करने के लिए दवा का एडमिट कोरोना अणु अस्पताल में बैठता है। साथ ही मरीजों की मेडिकल ऑक्सीजन पर निर्भरता भी कम हो जाती है।

क्लिनिकल ट्रायल के नतीजे बताते हैं कि जिन मरीजों का 2-डीजी दवा से इलाज किया गया, वे आरटी-पीसीआरजेड टेस्ट में फिसल गए। ईओआई दस्तावेज के अनुसार, फार्मा कंपनियों को इसके लिए 17 जून से पहले आवेदन करना है। आवेदन की तकनीकी मूल्यांकन समिति द्वारा जांच की जाएगी। सिर्फ 15 कंपनियों को टीओटी दिया जाएगा, यह पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगा।


 
इस बोली प्रक्रिया में शामिल किसी भी कंपनी के पास ड्रग लाइसेंसिंग अथॉरिटी द्वारा दिए गए सक्रिय दवा सामग्री (एपीआई) के निर्माण के लिए दवा लाइसेंस होना चाहिए। साथ ही, WHO को GMP (गुड मैन्युफैक्चरिंग प्रैक्टिस) का सर्टिफिकेट होना चाहिए। सिंथेटिक प्रक्रिया के माध्यम से डी-ग्लूकोज का उपयोग करके 2-डीजी बनाने की प्रक्रिया का पालन किया जाता है। पांच रासायनिक प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद 2-डीजी डी-ग्लूकोज से बनता है।



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.