आखिरकार न्याय हुआ, महिलाएं अब सुरक्षित महसूस करेंगी : निर्भया की मां आशा देवी

Samachar Jagat | Friday, 20 Mar 2020 09:28:50 AM
Finally justice done, women will feel safe now: Nirbhaya's mother Asha Devi

नयी दिल्ली,निर्भया की मां आशा देवी ने अपनी बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार एवं हत्या के मामले के चारों दोषियों को शुक्रवार की सुबह फांसी दिए जाने के बाद कहा कि आखिरकार न्याय हुआ और अब महिलाएं सुरक्षित महसूस करेंगी।



loading...

निर्भया मामले के चारों दोषियों को आज सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई।

अपने आवास पर आशा देवी ने संवाददाताओं से कहा कि न्याय में विलंब हुआ लेकिन उन्हें न्याय मिला। उन्होंने कहा कि भारत की बेटियों के लिए न्याय की खातिर उनकी लड़ाई जारी रहेगी।

आशा देवी ने कहा ''हम उच्चतम न्यायालय से दिशा निर्देश जारी करने का अनुरोध करेंगे ताकि भविष्य में अपराधी बचाव के लिए किसी तरह की तिकड़म न अपना सकें।’’

उन्होंने कहा कि दोषियों को फांसी के बाद अब महिलाएं निश्चित रूप से खुद को सुरक्षित महसूस करेंगी।

निर्भया के पिता ने कहा ''न्याय के लिए हमारा इंतजार बेहद पीड़ादायी था। हम अपील करते हैं कि आज का दिन निर्भया 'न्याय दिवस’ के तौर पर मनाया जाए।’’

गौरतलब है कि दिल्ली में 16 दिसंबर 2०12 को एक महिला के साथ हुए सामूहिक बलात्कार एवं हत्या के मामले के चारों दोषियों को आज शुक्रवार की सुबह साढ़े पांच बजे फांसी दे दी गई।

पूरे देश की आत्मा को झकझोर देने वाले इस मामले की पीड़िता को ''निर्भया’’ नाम दिया गया।

इस मामले के चारों दोषियों... मुकेश सिह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिह (31) ने फांसी से बचने के लिए अपने सभी कानूनी विकल्पों का पूरा इस्तेमाल किया और बृहस्पतिवार की रात तक इस मामले की सुनवाई चली।

सामूहिक बलात्कार एवं हत्या के इस मामले के इन दोषियों को फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद तीन बार सजा की तामील के लिए तारीखें तय हुईं लेकिन फांसी टलती गई।

अंतत: आज सुबह साढ़े पांच बजे चारों दोषियों को फांसी दे दी गई।

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.