राजस्थान में सियासी संकट पर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने दिया ये बयान

Samachar Jagat | Tuesday, 14 Jul 2020 02:07:36 PM
Former Lok Sabha Speaker Sumitra Mahajan gave this statement on the political crisis in Rajasthan

इंदौर (मध्यप्रदेश)। राजस्थान में जारी सियासी संकट की पृष्ठभूमि में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने मंगलवार को कहा कि राजनीति में युवा नेतृत्व की उपेक्षा नहीं होनी चाहिये और भाजपा ने इस विषय में सोचना शुरू कर दिया है।

राजस्थान के राजनीतिक संकट से जुड़े सवाल पर महाजन ने यहां संवाददाताओं से कहा, ’’राजस्थान में उनकी (वहां सत्तारूढ़ कांग्रेस की) अंदरूनी लड़ाई चल रही है, लेकिन यह सोचने का समय आ गया है कि (राजनीति में) युवा नेतृत्व की उपेक्षा भी नहीं की जानी चाहिये और भाजपा ने यह सोचना शुरू कर दिया है कि युवाओं की अनदेखी नहीं होनी चाहिये।’’

चुनावी सियासत से संन्यास ले चुकीं 77 वर्षीय भाजपा नेता ने कहा, ’’राजनीति में युवाओं को भी अपनी काबिलियत दिखाने का पूरा मौका मिलना चाहिये।’’ हालांकि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष ने राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस के राजनीतिक संकट पर यह कहते हुए सीधी टिप्पणी से इंकार कर दिया कि कांग्रेस का संगठन अपनी आंतरिक दिक्कतों पर खुद ध्यान दे।

मीडिया से बातचीत से पहले, महाजन ने इंदौर जिले की सांवेर विधानसभा क्षेत्र के आगामी उप चुनावों के मद्देनजर भाजपा के 'हर-हर मोदी, घर-घर तुलसी’ अभियान की शुरूआत की। इसके तहत भाजपा के कार्यकताã इस क्षेत्र में लोगों के घर-घर जाकर उन्हें केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी दे रहे हैं और उन्हें तुलसी का पौधा भेंट कर रहे हैं।

सांवेर क्षेत्र सूबे की उन 24 विधानसभा सीटों में शामिल है, जहां आने वाले दिनों में उपचुनाव होने हैं।
कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने के बाद राज्य में मौजूदा शिवराज सिह चौहान सरकार में जल संसाधन मंत्री बनाये गये तुलसीराम सिलावट को आगामी उपचुनावों में सांवेर से उम्मीदवारी के लिये भाजपा का टिकट मिलना तय माना जा रहा है। 



 
loading...
loading...


Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.