हरियाणा: गुरूग्राम के छह तहसीलदार निलम्बित

Samachar Jagat | Saturday, 01 Aug 2020 03:35:48 PM
Haryana: six tehsildars of Gurugram suspended

चंडीगढ. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की सिफारिश पर गलत रजिस्ट्रियां करने के आरोपों में राजस्व विभाग के छह तहसीलदारों और नायब तहसीलदारों के खिलाफ कार्रवाई करते हुये इन्हें तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है।

सरकारी प्रवक्ता की जानकारी के अनुसार निलम्बित किये गये इन अधिकारियों में सोहना के तहसीलदार बंसी लाल और नायब तहसीलदार दलबीर भसह दुग्गल, बादशाहपुर के नायब तहसीलदार हरि कृष्ण, वजीराबाद के नायब तहसीलदार जय प्रकाश, गुरुग्राम के नायब तहसीलदार देश राज कम्बोज और मानेसर के नायब तहसीलदार जगदीश हैं। वहीं कादीपुर के नायब तहसीलदार(सेवानिवृत्त) ओम प्रकाश को हरियाणा सिविल सेवा (पेंशन) नियम के तहत चार्जशीट किया गया है।

कानूनी प्रावधानों का उल्लंघन कर दस्तावेजों का पंजीकरण करने के लिए इन अधिकारियों के खिलाफ अब एफआईआर भी दर्ज की जाएगी। सरकार ने गुरुग्राम मंडलायुक्त को उन पटवारियों के खिलाफ विस्तृत जांच रिपोर्ट देने को कहा है जिन्होंने गलत मंशा के तहत खसरा गिरदावरी में भूमि की किस्म को‘कृषि भूमि’से गैर मुमकिन, गैर मुमकिन पहाड़, गैर मुमकिन फार्महाउस आदि’ में बदल दिया ताकि इनकी रजिस्ट्री प्रक्रिया को आसान बनाया जा सके।

सरकार ने इसके अलावा नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग और शहरी स्थानीय निकाय विभागों को उनके यहां से जारी अनापत्ति प्रमाण पत्र के सम्बंध में आंतरिक जाँच कर इसकी रिपोर्ट दो सप्ताह के भीतर राजस्व विभाग को प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए हैं ताकि आरोपियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके।  

मुख्यमंत्री ने गुरूग्राम के उक्त क्षेत्रों में रजिस्ट्री पर रोक अवधि के दौराान नगर एवं ग्राम आयोजना, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, एचएसआईआईडीसी, शहरी संपदा, पुलिस, वन विभागों और मुकदमेबाजी विभाग को मामलों को वेब-हेलरिस ऐपलिकेशन के साथ इंटरफेस कर एक प्रौद्योगिकी आधारित चैक स्थापित करने के निर्देश दिये हैं ताकि कानून का उल्लंघन कर इस तरह की रजिस्ट्रियों पर रोक लगाई जा सके।

उल्लेखनीय है कि श्री चौटाला ने संरक्षित क्षेत्रों की भूमि किस्म में बदलाव कर इन्हें अवैध तरीके से बेचे जाने तथा नियमों का उल्लंघन कर इनकी रजिस्ट्रियां किये जाने क मामला सामने आने के बाद शुक्रवार को गुरूग्राम में एक पत्रकारवार्ता में कहा था कि इस गोरख धंधे में संलिप्त भ्रष्ट अधिकारियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा चाहे वह कितना ही बड़ा क्यों न हो (एजेंसी)



 
loading...
loading...

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.