सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर सुनवाई: एक पक्ष ने कहा कि बाबर कभी अयोध्या नहीं आएं

Samachar Jagat | Wednesday, 28 Aug 2019 09:35:45 AM
Hearing on Ayodhya case in Supreme Court: One party said that Babur should never come to Ayodhya


इंटरनेट डेस्क। सुप्रीम कोर्ट में अध्योध्या मामले की सुनवाई की जा रही है। जिसके तहत निर्मोही अखाड़ा ने उच्चतम न्यायालय मे कहा कि अध्योध्या में विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि के स्वामित्व के लिए राम लला के वाद का विरोध नहीं कर रहा है।

अखाड़ा ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगाई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीट को इस रूख के बारें में बताया। उससे पूछा गया था किक्या वह इस तथ्य के आलोक में राम लला की याचिका का विरोध कर रहा हैं शबैत के तौर पर संपत्ति पर उसका अधिकार तभी हो सकता है जब राम लला विरोजमान के वाद को विचारार्थ स्वीकार किया जाएं।

निर्मोही अखाडेद्य की ओर से वरिष्ठ वकील सुशील जैन ने पीठ से कहा कि कल आपने जो कहा उसके जवाब मे ंनिर्मोही अखाड़ा का रूख यह है कि व वाद संख्या 5 की विचारणीलयता के मुद्दे पर जोर नहीं देगा देवता के वकील भी अखाड़ा शबैत अधिकारों को चुनौती नहीं दें।

अखिल भारतीय श्रीराम जन्मभूमि पुरूद्वार समिति की ओर से वरिष्ठ वकील पी.एन. मिश्रा ने स्कंद पुराण और अयोध्या महात्म्य जैसे शास्त्रों एवं अन्य उल्लेखों के आधार पर दलीलें शुरू की। उन्होंने कहा कि बाबर कभी अयोध्या नहीं आया और उसने किसी मस्जिद या अन्य किसी चीज का निर्माण नहीं कराया। मीर बाकी नाम का कोई शख्स नहीं था, जिसे बाबर का कथित सेनापति और मस्जिद का निर्माता बताया जाता है। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.