क्या ममता राज में 'बंगाल' बन रहा है 'तालिबान'? 9 जिलों से 350 से ज्यादा बम बरामद

Samachar Jagat | Monday, 28 Mar 2022 09:32:01 AM
Is 'Bengal' becoming 'Taliban' under Mamata raj? Over 350 bombs recovered from 9 districts

कोलकाता: बीरभूम हिंसा के बाद पुलिस की छापेमारी में पिछले 24 घंटों में बंगाल के विभिन्न स्थानों से 350 से अधिक देसी बम बरामद किए गए हैं. इनमें से सबसे ज्यादा 200 बम बीरभूम के मारग्राम इलाके से मिले हैं। पुलिस ने छापेमारी में करीब 11 लोगों को देसी बम के साथ गिरफ्तार भी किया है. पुलिस ने शनिवार को छापेमारी कर मारग्राम इलाके में चार बाल्टियों में रखे 200 बम बरामद किए हैं. हिंसा ग्रस्त बागतुई गांव से मार्गराम की दूरी करीब 40 किलोमीटर है।

जिला एसपी नागेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि कच्चे बम की बरामदगी के लिए लगातार तलाशी अभियान जारी है. अभियान के तहत पुलिस ने पश्चिम मेदिनीपुर के केशवपुर में छापा मारा और 100 देसी बम बरामद किए। वहीं, मालदा जिले के हरिश्चंद्रपुर थाना क्षेत्र के एक गांव से चार बम बरामद हुए हैं. जिले के कालियाचक इलाके में एक घर में बम फटने से तीन साल के बच्चे की मौत हो गई. उत्तर 24 परगना के जगदल थाना क्षेत्र से आठ बम बरामद किए गए। जिले के श्यामनगर प्रभाती संघ मैदान से अवैध हथियारों के साथ तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. छापेमारी के दौरान पूर्वी बर्दवान के मेमारी और कृष्णापुर से 5 बम बरामद हुए और 2 को गिरफ्तार किया गया.


 
मुर्शिदाबाद के जंगीपुर से पुलिस ने दो बाल्टी से 14 बम बरामद किए हैं। वहीं, उत्तर दिनाजपुर के रायगंज से पुलिस ने 4 पाइप बम बरामद किए हैं. पुलिस ने बम के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। कोलकाता से सटे हावड़ा के नवापल्ली में दो राउंड बम मिले। पुलिस ने बम के साथ एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है। नादिया के कृष्णानगर में छापेमारी के दौरान 14 देसी बम बरामद किए गए। पुलिस ने बम बनाने वाले तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.