Kurukshetra में किसानों पर लाठीचार्ज का विवाद गहराया, जांच की मांग

Samachar Jagat | Saturday, 12 Sep 2020 05:20:10 PM
Lathicharge dispute deepens in Kurukshetra, demands investigation

चंडीगढ़। कृषि अध्यादेशों का विरोध कर रहे किसानों पर हरियाणा के कुरुक्षेत्र में दो दिन पहले लाठीचार्ज का विवाद गहरा गया है क्योंकि गृह मंत्री अनिल विज ने ऐसा दावा किया था कि कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ था जिसके बाद एक गैर सरकारी संगठन ने आज सोशल मीडिया में आये वीडियो, तस्वीरें जारी करते हुए प्रकरण में प्राथमिकी दर्ज करनेे औैर मामले की जांच करवाई जाए।

वकीलों के गैर सरकारी संगठन ‘सबका मंगल हो‘ की तरफ से वकील प्रदीप कुमार रापड़यिा इस संदर्भ में गृह मंत्री को पत्र लिखा गया है। पत्र में इस पर भी आपत्ति दर्ज की गई है कि तस्वीरों में बिना वर्दी के भी पुलिस कर्मचारी लाठीचार्ज करते दिख रहे हैं।

पत्र में कहा गया है कि ऐसे में कोई भी असामाजिक तत्व बिना वर्दी वाले पुलिसकर्मियों के बीच घुसकर आम लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर सकता है।

गृह मंत्री के बयान कि ‘कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ‘ का संदर्भ देते हुए पत्र में कहा गया है कि अगर कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ तो तस्वीरों और वीडियो में दिख रहे वर्दी औैर बिना वर्दी वाले कौन लोग हैं? इसकी जांच होनी चाहिए।

पत्र के अनुसार पुलिस रूल के बिंदु 4.4 में साफ कहा गया है कि अपनी शक्तियों के प्रयोग के दौरान कोई भी पुलिसकर्मी बिना वर्दी के नहीं होगा और बिना वर्दी वाले कर्मचारी को अपने कर्तव्य निर्वहन के दौरान उस पर हुए हमले के बारे में कोई कानूनी विभागीय संरक्षण या सुरक्षा नहीं मिलेगी।

पत्र में मांग की गई है कि निहत्थे किसानों पर लाठीचार्ज करने के मामले की जांच करवाई जाए, शिनाख्त कर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए और विभागीय कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

सभी अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश जारी किये जाएं कि कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त किये गये पुलिसकर्मी वर्दी में नेम प्लेट लगाकर समुचित पहचान के साथ अपनी ड्यूटी करें। पत्र में कहा गया है कि यदि इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई वह उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।(एजेंसी)



 
loading...


Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.