PM ने संस्कृत के विद्बान 'वागीश शास्त्री’ के निधन पर शोक जताया

Samachar Jagat | Thursday, 12 May 2022 03:33:32 PM
PM condoles the death of Sanskrit scholar 'Vagish Shastri'

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पद्मश्री से सम्मानित संस्कृत के विद्बान प्रोफ़ेसर भागीरथ प्रसाद त्रिपाठी (वागीश शास्त्री) के निधन पर बृहस्पतिवार को शोक जताया और कहा कि युवाओं के बीच संस्कृत को लोकप्रिय बनाने में अमूल्य योगदान दिया।\ त्रिपाठी का बुधवार की देर रात वाराणसी में निधन हो गया है। वह 87 वर्ष के थे और पिछले कुछ दिनों से बीमार थे। संस्कृत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले त्रिपाठी को वर्ष 2018 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ''प्रो. भागीरथ प्रसाद त्रिपाठी 'वागीश शास्त्री’ ने आधुनिक वैज्ञानिक तरीकों को इस्तेमाल करते हुए युवाओं में संस्कृत को लोकप्रिय बनाने के लिए अमूल्य योगदान दिया। वे बहुत जानकार और सुशिक्षित थे। उनके निधन से आघात पहुंचा है। उनके परिजनों व मित्रों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।’’ भाषा ब्रजेन्द्र मनीषा प्रशांत नयी दिल्ली, 12 मई (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पद्मश्री से सम्मानित संस्कृत के विद्बान प्रोफ़ेसर भागीरथ प्रसाद त्रिपाठी (वागीश शास्त्री) के निधन पर बृहस्पतिवार को शोक जताया और कहा कि युवाओं के बीच संस्कृत को लोकप्रिय बनाने में अमूल्य योगदान दिया।

त्रिपाठी का बुधवार की देर रात वाराणसी में निधन हो गया है। वह 87 वर्ष के थे और पिछले कुछ दिनों से बीमार थे। संस्कृत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले त्रिपाठी को वर्ष 2018 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ''प्रो. भागीरथ प्रसाद त्रिपाठी 'वागीश शास्त्री’ ने आधुनिक वैज्ञानिक तरीकों को इस्तेमाल करते हुए युवाओं में संस्कृत को लोकप्रिय बनाने के लिए अमूल्य योगदान दिया। वे बहुत जानकार और सुशिक्षित थे। उनके निधन से आघात पहुंचा है। उनके परिजनों व मित्रों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।’’
 



 
loading...

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.