Rajasthan : वसुंधरा राजे को 2023 में तीसरी बार सीएम देखना चाहता है 'वीआरएसएमआर', 25 जिलों में सक्रिय हुआ ये मंच

Samachar Jagat | Saturday, 09 Jan 2021 01:53:20 PM
Rajasthan: VRSMR wants to see Vasundhara Raje for the third time in 2023, this platform becomes active in 25 districts

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के समर्थक उन्हें फिर से राजस्थान की मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं। यही वजह है कि उनके समर्थक होने का दावा करने वाले कई लोगों ने वसुंधरा राजे समर्थ मंच राजस्थान (वीआरएसएमआर) नाम से एक संगठन बनाया है। संगठन का मूल ध्येय 2023 विधानसभा चुनावों में जीत के बाद तीसरी बार राजे को मुख्यमंत्री बनाना है। मंच के लेटरहैड पर राजे के साथ ही उनकी मां विजय राजे सिंधिया की फोटो भी है। साथ ही ये लेटरहैड बीजेपी के लेटरहैड की तरह ही है।

इंडियन एक्सप्रेस के अऩुसार, राजस्थान के राजनीतिक हलकों में, इस कदम को उसके समर्थकों द्वारा राज्य में वसुंधरा राजे के अधिकार को पुनः प्राप्त करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। ये जब हुआ है तब राज्य में पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के बढ़ते दबदबे के बीच राजस्थान में राजे और भाजपा की राज्य इकाई के बीच तनातनी की खबरें हैं। वहीं शुक्रवार को भी बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने राजे को छोड़कर भाजपाध्यक्ष सतीश पूनिया, राजेन्द्र राठौड़ और कटारिया को ही दिल्ली बुलाया। राजे को न्यौता नहीं मिलने के कारण भी समर्थक हैरान थे।

मंच के प्रदेश अध्यक्ष विजय भारद्वाज ने कहा कि वसुंधरा राजे समर्थ मंच राजस्थान (वीआरएसएमआर) का उद्देश्य पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा जनता के लिए शुरू की गई योजनाओं के बारे में जागरूकता फैलाना है। इनमें से कई योजनाओं के नाम बदल दिए गए हैं या कांग्रेस सरकार द्वारा बंद कर दिए गए हैं। साथ ही इसका उद्देश्य 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को मजबूत करना है और हम सभी अगले चुनावों के बाद एक बार फिर से वसुंधरा राजे को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं। जनता भी उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहती है।

भारद्वाज भाजपा सदस्य और पार्टी के राज्य कानूनी प्रकोष्ठ के पूर्व सचिव रह चुके हैं। उन्होंने कहा कि वह 1999 से 2003 तक जनता दल (यूनाइटेड) का हिस्सा थे और तब से राजे के वफादार समर्थक रहे हैं। उन्होंने आगे बताय कि वीआरएसएमआर की राज्य कार्यकारी समिति का गठन किया है और 25 जिलों में जिला अध्यक्षों और टीम के सदस्यों की भी नियुक्ति की है। हमारे पास जमीनी स्तर के कैडर से लेकर विधायकों और सांसदों तक कई भाजपा कार्यकर्ताओं का समर्थन है। हालांकि, उनके दावों के बावजूद, भारद्वाज ने किसी भी मौजूदा विधायक या सांसदों के नाम बताने से इनकार कर दिया, जो संगठन का समर्थन करते हैं।



 
loading...




Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.