Rajya Sabha Session : राज्यसभा में लगातार दूसरे दिन PM मोदी ने विपक्ष के नेता को किया याद, भावुक होते हुए बोले - दल से पहले देश की चिंता करते हैं 'नबीजी', ऐसे शख्स को तो सैल्यूट करना बनता है...!

Samachar Jagat | Tuesday, 09 Feb 2021 12:01:34 PM
Rajya Sabha Session: PM Modi remembers the Leader of the Opposition for the second consecutive day in the Rajya Sabha, being emotional, he said - Nabi ji is concerned about the country before the party, such a person has to be saluted…!

इंटरनेट डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मंगलवार को राज्यसभा में चार सांसदों के कार्यकाल पूरा होने पर विदाई भाषण दिया। प्रधानमंत्री जब राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद के बारे में बोल रहे थे तो वे भावुक नजर आए। इससे पहले, राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए भी सोमवार को पीएम मोदी ने आज़ाद की तारीफ की थी।

 

The person who will replace Ghulam Nabi ji (as Leader of Opposition) will have difficulty matching his work because he was not only concerned about his party but also about the country and the House: PM Modi during farewell to retiring members in Rajya Sabha pic.twitter.com/bVE3Cnddl2

— ANI (@ANI) February 9, 2021

पीएम मोदी ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बारे में भावुक होते हुए कहा कि मुझे चिंता इस बात की है कि गुलाम नबी जी के बाद इस पद को जो संभालेंगे, उनको गुलाम नबी जी से मैच करने में बहुत दिक्‍कत पड़ेगी। क्‍योंकि गुलाम नबी जी अपने दल की चिंता करते थे लेकिन देश की और सदन की भी उतनी ही चिंता करते थे। यह छोटी बात नहीं है, यह बहुत बड़ी बात है। मैं एनसीसी चीफ शरद पवार जी को भी इसी श्रेणी में रखता हूं।

पीएम मोदी ने बताया कि एक बार आतंकियों ने हमला कर दिया, करीब आठ लोग मारे गए थे। सबसे पहले मुझे गुलाम नबी जी का फोन आया। और वो फोन सिर्फ सूचना देने का नहीं था, उनके आंसू रुक नहीं रहे थे। फोन पर ही। उस समय प्रणब मुखर्जी साहब डिफेंस मिनिस्‍टर थे। मैंने उनको फोन किया कि अगर फोर्स का हवाई जहाज मिल जाए। डेड बॉडी लाने के लिए। उन्‍होंने कहा चिंता मत कीजिए। लेकिन रात में फिर गुलाम नबी जी का फोन आया। वे एयरपोर्ट पर थे।

यह कहते हुए पीएम भावुक हो गए। पीएम मोदी ने इसके बाद पानी पीया और फिर माफी मांग कर एक बार फिर रुंधे गले से भाषण पूरा किया। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट से ही उन्‍होंने मुझे फोन किया और जैसे अपने परिवार के सदस्‍य की चिंता करेंगे, वैसी चिंता। पीएम मोदी ने कहा पद और सत्ता जीवन में आते रहते हैं लेकिन उसे कैसे पचाना है और इसके बाद पीएम मोदी ने गुलाम नबी आजाद की तरफ देखते हुए सैल्यूट किया।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.