सीतापुर जेल में आजम खान से मिले शिवपाल, सपा नेतृत्व पर साधा निशाना

Samachar Jagat | Friday, 22 Apr 2022 03:07:22 PM
Shivpal met Azam Khan in Sitapur Jail, targeted the SP leadership

सीतापुर। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिह यादव ने शुक्रवार को आजम खान के मामले में सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूणã है कि समाजवादी पार्टी अपने सबसे वरिष्ठ नेता और संस्थापक सदस्य आजम खान के लिए न तो संघर्ष कर रही है और न ही मदद कर रही है। खान के मामले को लेकर यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जल्द ही मुलाकात करने का आश्वासन दिया। शिवपाल यादव शुक्रवार सुबह सीतापुर जेल में निरुद्ध सपा के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मंत्री आजम खान से मिलने सीतापुर पहुंचे।


जानकारी के अनुसार दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात हुई। शिवपाल ने बृहस्पतिवार को ऐलान किया था कि वह आजम खान से मुलाकात करेंगे। सीतापुर जेल के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए शिवपाल ने कहा कि आजम खान समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य हैं, वे यूपी विधानसभा में सबसे वरिष्ठ और 1०वीं बार के विधायक हैं। वह लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं। यादव ने कहा कि इतने बड़े कद के व्यक्ति को उनकी पार्टी (सपा) ने मदद नहीं की है। उन्होंने कहा कि आजम खान का मुद्दा नेताजी के नेतृत्व में लोकसभा में रखा जाना चाहिए, जिनके प्रधानमंत्री के साथ अच्छे संबंध हैं और प्रधानमंत्री भी उन्हें महत्व देते हैं।


यह पूछे जाने पर कि आजम उनके साथ हैं या अखिलेश के साथ, शिवपाल ने कहा कि वह आजम के साथ हैं और आजम उनके साथ हैं। आगे की रणनीति के सवाल पर उन्होंने कहा कि उस पल का इंतजार करें। प्रसपा अध्यक्ष ने कहा ''यहां से जाने के बाद मैं मुख्यमंत्री से समय लूंगा और आजम खान की बात उनके सामने रखूंगा, अगर वह संत दिल हैं, तो उनकी स्थिति जरूर समझेंगे।’’ आजम खान सीतापुर जेल में दो साल से अधिक समय से बंद हैं और अखिलेश यादव एक बार उनसे मिलने गए थे। चर्चा है कि आजम खेमा इस बात से खफा हैं कि अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी ने उनकी उपेक्षा की और मदद नहीं की।


इसके पहले अखिलेश यादव की टिप्पणी 'भाजपा से मिलने वाला समाजवादी पार्टी में नहीं रहेगा' पर कड़ी आपत्ति जताते हुए शिवपाल यादव ने इसे “गैर-जिम्मेदाराना” बयान करार दिया और कहा कि ''अगर वे ऐसा सोचते हैं तो मुझे विधायक दल से शीघ्र निकाल देना चाहिए।'’ भाजपा में जाने की अटकलों पर शिवपाल यादव ने कहा कि इस संबंध में उनके द्बारा कोई निर्णय नहीं लिया गया है, जब सही समय आएगा तो वह सभी को इसके बारे में बताएंगे। पूर्व में अपने भतीजे से मनमुटाव के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) पार्टी बनाने वाले वरिष्ठ समाजवादी नेता शिवपाल ने हाल ही में समाजवादी पार्टी के साइकिल चिह्न पर विधानसभा चुनाव लड़ा और अपनी परंपरागत जसवंतनगर विधानसभा सीट से चुनाव जीते।


भाजपा में शामिल होने की अटकलों पर पूछे जाने पर शिवपाल यादव ने कहा कि अभी तक इस मामले पर कोई फैसला नहीं हुआ है, जब सही समय आएगा तो वह इस बारे में सभी को जरूर बताएंगे। हालांकि सपा अध्यक्ष ने शिवपाल का नाम नहीं लिया था, लेकिन उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ शिवपाल यादव की हालिया मुलाकात की पृष्ठभूमि में की गई टिप्पणी ने राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर हलचल मचा दी हैं ।


शिवपाल यादव ने हाल ही में भाजपा के साथ बढ़ती दोस्ती के संकेत दिए थे, जब आदित्यनाथ से मिलने के बाद उन्होंने ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को फॉलो करना शुरू कर दिया था। शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिह यादव के छोटे भाई हैं। 



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.