स्कूल खोलने का रिस्क नहीं लेना चाहते राज्य, दिवाली बाद हो सकता है फैसला

Samachar Jagat | Monday, 12 Oct 2020 09:30:51 AM
States do not want to take the risk of opening schools, may decide after Diwali

नई दिल्ली। कोरोना महामारी का प्रकोप अभी भारत से कम नहीं हो रहा है। पूरे देश में सक्रमण का खतरा लगातार फैल रहा है। ऐसे में सरकार की  अनलॉक गााइडलाइन भी जारी है। केंद्र सरकार ने राज्यों पर फैसला छोड़ते हुए 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने का आदेश जारी कर दिया है लेकिन, अभी कई राज्य स्कूल खोलने का रिस्क लेने का तैयार नहीं हैं। कोरोना महामारी के कारण देशभर में स्कूल, कॉलेज-विश्वविद्यालय 16 मार्च से ही बंद चल रहे हैं। अब केंद्र सरकार ने 15 अक्तूबर से इन्हें क्रमिक तरीके से पुन: खोलने की मंजूरी दे दी है, लेकिन लगभग सभी राज्य इस महीने स्कूल खोलने के मूड में नहीं दिख रहे।

पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई राज्य तो दीपावली के बाद ही इस बारे में सोचना चाहते हैं। दीपावली इस साल 14 नवंबर को पड़ रही है। केंद्र की ओर से जारी दिशानिर्देशों में शिक्षण संस्थानों को पुन: खोलने का अंतिम निर्णय राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों पर छोड़ा गया है।

कुछ राज्यों ने नौवीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए स्कूलों को सीमित स्तर पर खोला है या खोलने की तैयारी है। उधर, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा है कि दिवाली से पहले राज्य में स्कूल फिर से नहीं खुलेंगे। महाराष्ट्र में अब तक कोविड-19 के 15,17,434 मामले हैं, जिसमें से 40,040 लोगों की बीमारी के कारण मौत हो चुकी
जब हम विभिन्न विकल्पों की खोज कर रहे हैं, तो यह स्पष्ट है कि स्कूल दिवाली से पहले नहीं खुलेंगे।

 



 
loading...


Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.