1930 में गढ़वाली जी ने पेशावर में जिस तरीके से अपना सैनिक धर्म निभाया, उसी तरह 2020 में गलवान घाटी में चीन के खिलाफ सैनिकों ने अपने धर्म का पालन किया - राजनाथ सिंह

Samachar Jagat | Friday, 01 Oct 2021 04:50:34 PM
The way Garhwali ji performed their military religion in Peshawar in 1930, in the same way soldiers followed their religion against China in Galwan Valley in 2020 - Rajnath Singh

इंटरनेट डेस्क। उत्तराखंड में केंद्रीयर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज शुक्रवार को पौड़ी में स्वतंत्रता सेनानी वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का अनावरण किया। इस मौके पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि आज वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का अनावरण हो रहा है, वे कर्म और धर्म दोनों से सैनिक थे और एक सैनिक का धर्म होता है,देश और समाज की रक्षा करना।

 

उत्तराखंड:रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पौड़ी में स्वतंत्रता सेनानी वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का अनावरण किया।

उन्होंने कहा, "आज वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा का अनावरण हो रहा है, वे कर्म और धर्म दोनों से सैनिक थे और एक सैनिक का धर्म होता है,देश और समाज की रक्षा करना।" pic.twitter.com/3aD07JKoFa — ANI_HindiNews (@AHindinews) October 1, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 1930 में गढ़वाली जी ने पेशावर में जिस तरीके से अपना सैनिक धर्म का पालन किया था, उसी तरह 2020 में भारत-चीन की सीमा पर हमारे सैनिकों ने गलवान घाटी में अपने सैनिक धर्म का पालन किया था। ऐसे भारत के जवानों का भी अभिनंदन करना चाहिए। 

गौरतलब है कि केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज ही उत्तराखंड के दौरे पर पहुंचे हैं। यहां से वे सीधा नई दिल्ली के लिये रवाना होंगे। इसके पश्चात दिल्ली में कई बैठकों में उन्हें हिस्सा लेना है। 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.