बापू के सपनों को साकार करने के लिए देशवासियों ने निरंतर परिश्रम भी किया और सहयोग भी दिया...शहरों और गांवों में खुले में शौच से मुक्ति, 40 हजार ग्राम पंचायतों में सिंगल यूज प्लास्टिक बंद, खादी की बिक्री कई गुना बढ़ी - पीएम मोदी

Samachar Jagat | Saturday, 02 Oct 2021 01:16:02 PM
To make Bapu's dreams come true, the countrymen also worked hard and supported... Freedom from open defecation in cities and villages, single use plastic stopped in 40 thousand gram panchayats, Khadi sales increased manifold - PM Modi

इंटरनेट डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज शनिवार को आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 'हर घर जल जल जीवन मिशन' के तहत देशभर की पानी समितियों के साथ वर्चुअली संवाद किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि इस अभियान से जुड़ी सभी जानकारियां एक ही जगह 'जल जीवन मिशन' ऐप पर मिल जाएंगी। गांव के लोग भी अपने यहां के पानी की शुद्धता पर बारीक नजर रख पाएंगे। एक सुखद एहसास हम सभी को है कि बापू के सपनों को साकार करने के लिए देशवासियों ने निरंतर परिश्रम किया है, अपना सहयोग दिया है। 

 

बहुत कम लोगों के मन में ये सवाल उठता है कि इन लोगों को हर दिन किसी नदी या तालाब तक क्यों जाना पड़ता है। आखिर पानी क्यों नहीं इन लोगों तक पहुचंता है। जिन लोगों पर लंबे समय तक नीति निर्धारण की जिम्मेदारी थी उन्हें ये सवाल खुद से जरूर पूछना चाहिए था लेकिन ये सवाल नहीं पूछा गया: PM pic.twitter.com/XwlJvVIRXU — ANI_HindiNews (@AHindinews) October 2, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अऩुसार, महात्मा गांधी और पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज देश के शहर और गांव खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर चुके हैं। करीब 2 लाख गांवों ने अपने यहां कचरा प्रबंधन का काम शुरू कर दिया है। 40 हजार से ज़्यादा ग्राम पंचायतों ने सिंगल यूज प्लास्टिक को बंद करने का फैसला लिया है। खादी की बिक्री भी कई गुना ज़्यादा हो रही है। 

पीएम मोदी ने कहा कि बहुत कम लोगों के मन में ये सवाल उठता है कि इन लोगों को हर दिन किसी नदी या तालाब तक क्यों जाना पड़ता है। आखिर पानी क्यों नहीं इन लोगों तक पहुचंता है। जिन लोगों पर लंबे समय तक नीति निर्धारण की जिम्मेदारी थी उन्हें ये सवाल खुद से जरूर पूछना चाहिए था लेकिन ये सवाल नहीं पूछा गया। 

 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.