Uttrakhand Congress : उत्तराखंड कांग्रेस की वरिष्ठ सदस्या और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश का 80 साल की उम्र में निधन, पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा - सामुदायिक सेवा के प्रयासों में आगे रहकर बनाई अलग पहचान

Samachar Jagat | Sunday, 13 Jun 2021 03:39:13 PM
Uttrakhand Congress: Senior leader of Uttarakhand Congress and Leader of Opposition Indira Hridayesh dies at the age of 80

इंटरनेट डेस्क। उत्तराखंड कांग्रेस से जुड़ी आज रविवार को बेहद दुःखद खबर सामने आई है। कांग्रेस की वरिष्ठ दिग्गज प्रतिपक्ष नेता इंदिरा हृदयेश का आज हार्ट अटैक से निधन हो गया। राज्य कांग्रेस में वे एक जाना पहचाना चेहरा थी साथ ही कद्दावर नेता की उनकी छवि बनी हुई थी। 80 साल की उम्र में उन्होंने अलविदा कहा। 7 अप्रैल 1941 को अयोध्या में उनका जन्म हुआ था। 

 

Dr. Indira Hridayesh Ji was at the forefront of several community service efforts. She made a mark as an effective legislator and also had rich administrative experience. Saddened by her demise. Condolences to her family and supporters. Om Shanti: PM @narendramodi

— PMO India (@PMOIndia) June 13, 2021

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वे दिल्ली में कांग्रेस की एक मीटिंग में शामिल होने गईं थीं। इसके बाद आज सुबह ही उनकी तबियत खराब हो गई। इसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनका निधन हो गया। पीएम मोदी ने भी उनके निधन पर ट्वीट कर संवेदना जताई है। पीएम मोदी ने लिखा कि डॉ. इंदिरा हृदयेश जी कई सामुदायिक सेवा प्रयासों में सबसे आगे थीं। उन्होंने एक प्रभावी विधायक के रूप में अपनी पहचान बनाई और उनके पास समृद्ध प्रशासनिक अनुभव भी था। उनके निधन से दुखी हूं. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना है। 

 

अभी-अभी कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री डॉक्टर @IndiraHridayesh जी के निधन का दुःखद समाचार मिलकर मन अत्यंत दुखी है। इन्दिरा बहिन जी ने अपने लम्बे राजनीतिक जीवन में कई पदों को सुशोभित किया और विधायिका के कार्य में पारंगत हासिल की। बहिन जी का जाना मेरे लिए एक व्यक्तिगत क्षति है।

— Trivendra Singh Rawat (@tsrawatbjp) June 13, 2021

वहीं उत्तराखंड के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी ट्वीट कर इंदिया ह्रदयेश को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि अभी-अभी कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री डॉक्टर इंदिरा हृदयेश जी के निधन का दुःखद समाचार मिलकर मन अत्यंत दुखी है। इन्दिरा बहिन जी ने अपने लम्बे राजनीतिक जीवन में कई पदों को सुशोभित किया और विधायिका के कार्य में पारंगत हासिल की। बहिन जी का जाना मेरे लिए एक व्यक्तिगत क्षति है। 

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.