Yuzvendra Chahal : मैं जानता था कि मुझे उस ओवर में विकेट लेने हैं

Samachar Jagat | Tuesday, 19 Apr 2022 02:48:26 PM
Yuzvendra Chahal : main jaanata tha ki mujhe us ovar mein viket lene hain: chahal mumbee, 19 aprail (vaarta) haitrik sahit paanch viketon kee badaulat pleyar ophaai da maich bane leg spinar yuzavendr chahal ne maich ke baad kaha,main jaanata tha ki mujhe us ovar mein viket lene the. isalie mainne ophaai stamp ke baahar gend rakhane kee yojana banaee. mainne kal hee koch aur kaptaan se baatacheet kee thee. haitrik gend par main jaanata tha ki kamis gugalee ka intazaar kar rahe the. gugalee gend par mujhe chhakka laga tha aur main jokhim nahin lena chaahata tha. main bas dot gend daalana chaahata tha. (lakhanoo ke .khaliaaphaai haitrik gend par chhoote kaich par) yah kriket mein hota rahata hai. raajasthaan royals ke kaptaan sanjoo saimasan ne saat ran se aakhiree ovar mein milee jeet ke baad kaha,’aaeepeeel mein kaaireebee maich dekhane ko milate hain. aisee sthiti mein aapako shaant rahakar bharosa rakhane kee zaroorat hai. aapako maich ke ru.kh ko samajhana hota hai aur sahee maukaaion ko apane paksh mein karana hota hai. kolakaata ek mazaboot teem hai. hamen kabhee nahin laga ki ham maich mein aage the. saaree duniya jaanatee hai ki yuzavendr aur ashvin kya kar sakate hain. haalaanki main rasel ke .khaliaaphaai ashvin kee vah jaaduee gend aur devadatt kee ballebaazee kee saraahana karana chaahata hoon. obed jaanate hain ki unhen kya karana hai aur mujhe unhen zyaada kuchh kahane kee zaroorat nahin hai. aakhiree ovar daalane vaale tej gendabaaj obed makoe ne kaha,’yah pichhale saal kee chot ke baad mera pahala maich tha. main pichhale kuchh maheenon mein mehanat kar raha tha aur isaka mujhe phal mila. mainne apanee taakaait par bharosa kiya. bhale hee mainne maich nahin khelen lekin main net mein maich kee hee tarah abhyaas karata tha. main jaanata tha ki ballebaaz taakaait ka istemaal karenge aur isalie main leg said par dheemee gati kee gend daalana chaahata tha. hetmaer mujhe salaah de rahe the. Show more 1,546 / 5,000 Translation results I knew I had to take wickets in that over

मुम्बई |  हैट्रिक सहित पांच विकेटों की बदौलत प्लेयर ऑफ द मैच बने लेग स्पिनर युज़वेंद्र चहल ने मैच के बाद कहा,''मैं जानता था कि मुझे उस ओवर में विकेट लेने थे। इसलिए मैंने ऑफè स्टंप के बाहर गेंद रखने की योजना बनाई। मैंने कल ही कोच और कप्तान से बातचीत की थी। हैट्रिक गेंद पर मैं जानता था कि

कमिस गुगली का इंतज़ार कर रहे थे। गुगली गेंद पर मुझे छक्का लगा था और मैं जोखिम नहीं लेना चाहता था। मैं बस डॉट गेंद डालना चाहता था। (लखनऊ के .खलिाफ हैट्रिक गेंद पर छूटे कैच पर) यह क्रिकेट में होता रहता है। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने सात रन से आखिरी ओवर में मिली जीत के बाद कहा,'’आईपीएल में कèरीबी मैच देखने को मिलते हैं। ऐसी स्थिति में आपको शांत रहकर भरोसा रखने की ज़रूरत है।

आपको मैच के रु.ख को समझना होता है और सही  मौको  को अपने पक्ष में करना होता है। कोलकाता एक मज़बूत टीम है। हमें कभी नहीं लगा कि हम मैच में आगे थे। सारी दुनिया जानती है कि युज़वेंद्र और अश्विन क्या कर सकते हैं। हालांकि मैं रसेल के .खलिाफè अश्विन की वह जादुई गेंद और देवदत्त की बल्लेबाज़ी की सराहना करना चाहता हूं।

ओबेद जानते हैं कि उन्हें क्या करना है और मुझे उन्हें ज़्यादा कुछ कहने की ज़रूरत नहीं है। आखिरी ओवर डालने वाले तेज गेंदबाज ओबेद मकॉए ने कहा,'’यह पिछले साल की चोट के बाद मेरा पहला मैच था। मैं पिछले कुछ महीनों में मेहनत कर रहा था और इसका मुझे फल मिला। मैंने अपनी ताकत पर भरोसा किया। भले ही मैंने मैच नहीं खेलें लेकिन मैं नेट में मैच की ही तरह अभ्यास करता था। मैं जानता था कि बल्लेबाज़ ताकत का इस्तेमाल करेंगे और इसलिए मैं लेग साइड पर धीमी गति की गेंद डालना चाहता था। हेत्माएर मुझे सलाह दे रहे थे।'' 



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.