BREAKING NEWS
Hindi News

Health News

अक्सर देखा जाता है कि सर्दी हो या गर्मी खांसी एक ऐसी बीमारी होती है। जो कि यह कभी भी हो सकती है। इसके साथ ही यदि मौसम में थोडा सा भी बदलाव होता है। तो यह बीमारी ऐसी है कि ये हमें जकड़ लेती है।
कई बार जब हम सफर में जाते है। तो हम देखते है कि सफर के दौरान कई लोगों को बस, ट्रेन या गांडी में उल्टियां होने लगती है। इसके साथ ही कई लोग इस चीज से परेशान भी रहते है। क्योंकि वे इस परेशानी की वजह से कही आ और जा भी नहीं सकते है।
आज वाजपेयी सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस का निधन हो गया। उनको अल्जाइमर की बीमारी से काफी समय से परेशान थे। दरअलस, यह बीमारी एक दिमागी रोग है। इस रोग से ग्रस्त रोगी की याद्दाश्त और मेमोरी कमजोर होने लगती है। इसका असर उस रोगी के दिमागी कामकाज पर पड़ता है।
सर्दियों ने पूरी तरह से दस्तक दे दी है।  बारिश और सर्द हवाओं के कारण तापमान में भारी गिरावट देखी जा रही है। सर्दियों के मौसम आते ही लोग गर्म कपडे पहनने शुरू कर देते है।
कई लोगों की आदत होती है कि वे रात को बार—बार पेशाब जाते है। इस आदत की वजह से उनकी नीद बार—बार टूटती है। लेकिन वे इस बात को सामान्य मानते है। लेकिन ऐसा नहीं है।
अक्सर देखा गया है कि लोग ज्यादातर गर्म चाय पीने का शौकिन होते है। क्योंकि उन लोगों का कहना है कि गर्मागर्म चाय पीने का अपना अलग ही मजा होता है
अजवाइन में एंटी आक्सिडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है। इस कारण से इससे शरीर में गैस बनने, पेट दर्द, सर्दी—जुकाम जैसी समस्याओं के इलाज के लिए घर में इस्तेमाल की जाने वाली एक कारगर रामबाण इलाज है।
आज के समय में लोग मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल करते है। इससे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बता दें कि फोन का ज्यादादेर तक इस्तेमाल करते रहने से 'टेक्स्ट नेक' की परेशानी हो जाती है।
भारत में कई जगहों पर लोग चावल ज्यादा खाते है। तो कही प्रदेशों में तो दैनिक भोजन में चावल को खाते है। लेकिन वहीं सर्दियों में चावल खाने से बीमारियां भी होती है।
सर्दियों के मौसम में हमारे लाइफस्टाइल में बदलाव आ जाता है। क्योंकि हमारा खान—पान और पहनावा बदल जाता है।


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.