BREAKING NEWS
Home

Religion News

धर्म डेस्क। गुरूवार का दिन गुरू ग्रह को शांत करने का प्रमुख दिन माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरू ग्रह कमजोर है और इसी कारण जातक को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसे में जातक को गुरूवार के दिन कुछ खास उपाय करने की आवश्यकता होती है।
धर्म डेस्क। गुजरात के गांधीनगर जिले के रुपाल गांव में हर साल की अंतिम नवरात्रि में घी की नदियां बहती हैं। यहां की मान्यता के अनुसार यहां विराजित वरदायिनी माता को अगर पूरी श्रद्धा से घी चढ़ाया जाए तो भक्त की हर मनोकामना पूरी होती है। इस अवसर पर यहां एक बहुत बड़े उत्सव का भी आयोजन किया जाता है। 
धर्म डेस्क। अगर कोई व्यक्ति सपने में किसी स्त्री को देखता है तो उसका क्या अर्थ होता है। इसके साथ ही स्त्री किस मुद्रा में हैं इसका प्रभाव भी व्यक्ति पर पड़ता है। अगर आप भी पुरूष हैं और आपको सपने में स्त्री का ये रूप दिखाई देता है तो आपकी किस्मत जल्द ही बदलने वाली है। आइए आपको बताते हैं इन सपनों के बारे में....
धर्म डेस्क। चांदी खरीदना शुभ माना जाता है ये सोने से सस्ती होती है इसी कारण इसे सभी आसानी से खरीद सकते हैं। चांदी के आभूषणों से महिलाओं की सुंदरता में चार-चांद तो लगते ही हैं इसके साथ ही चांदी घर के वास्तुदोष को भी दूर करने में सहायक होती है। चांदी से जुड़े कई उपाय हैं जिन्हें करने से धन की प्राप्ति के साथ ही अन्य मनोकामनाआें की पूर्ति भी होती है।
धर्म डेस्क। अधिक मास या पुरुषोत्तम मास 16 मई से प्रारंभ हो चुका है और ये 13 जून तक रहेगा, इस मास को धर्म-कर्म का महीना कहा जाता है। इस महीने में जो जितना दान और पूजा-पाठ करता है उसे उतने ही ज्यादा पुण्य की प्राप्ति होती है। वहीं अगर ये दान तिथि अनुसार किया जाए तो इससे व्यक्ति की मनोकामनाआें की पूर्ति होती है।
धर्म डेस्क। मैहर शारदा माता का एक प्रसिद्ध मंदिर है। जिला सतना की मैहर तहसील के समीप त्रिकूट पर्वत पर मैहर देवी का मंदिर है। इस मंदिर में दर्शन के लिए हर वर्ष लाखों की भारी भीड़ जमा होती है। वहां शारदा देवी की पत्थर की मूर्ति के पैर के पास ही स्थित एक प्राचीन शिलालेख है। यहां शारदा देवी के साथ भगवान नरसिंह की एक मूर्ति है।
धर्म डेस्क। प्रत्येक व्यक्ति के लिए राशिअनुसार अलग-अलग मंत्र बताए गए हैं, अगर व्यक्ति अपनी राशि को ध्यान में रखकर इन मंत्रों का जाप करता है तो इससे उसे मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। राशिअनुसार व्यक्ति को किस मंत्र का जाप करना शुभ रहता है आइए आपको बताते हैं इसके बारे में......
मथुरा। मलमास में ठाकुर सेवा के रूप में विख्यात उत्तर प्रदेश के मथुरा में 27 मई को द्बारकाधीश का अनूठा विवाह आयोजित किया जा रहा है। मथुरा में वैसे तो ब्रजवासी श्रीकृष्ण के अवतरण के सवा पांच हजार साल बाद भी सखा भाव या वात्सल्य भाव से समय-समय पर विभिन्न आयोजन करते हैं। यहां के मंदिरों में कहीं बालस्वरूप में सेवा होती है
धर्म डेस्क। किसी भी देवी-देवता की आरती के बाद कर्पूरगौरम् करुणावतारं मंत्र बोला जाता है। इस मंत्र को बोलना मात्र सदियों से चली आ रही परंपरा को निभाना नहीं है बल्कि एक विशेष कारण है जिसकी वजह से पूजा और आरती के बाद ये मंत्र बोला जाता है। आइए आपको बताते हैं इसके बारे में
धर्म डेस्क। पुरानी परांपराओं को आज भले ही लोग रूढ़ीवादिता समझ लें लेकिन उनका अपना वैज्ञानिक महत्व था। ये परंपराएं व्यक्ति को स्वस्थ और सुखी रखने के लिए बनाई गई थीं। आपको पता होगा कि प्राचीन काल में लोग जमीन पर बैठकर खाना खाते थे लेकिन बदलते समय ने लोगों के रहन-सहन को बदल दिया

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.