Home

Travel

मुंबई। आजकल देश में युवाओं के बीच यात्रा करने का रुझान बढ़ रहा है। वहीं वह अपनी यात्रा से जुड़ी तस्वीरों और वीडियो इत्यादि को सोशल मीडिया पर खूब शेयर करते हैं। लेकिन एक सर्वेक्षण बताता है कि ऐसा वह उनकी यात्रा में शामिल नहीं हो पाने वाले दोस्तों के समक्ष डींग हांकने या फिर अपने फॉलोअर्स से प्रशंसा पाने के लिए करते हैं।
नई दिल्ली। सम्राट जार्ज पंचम की ताजपोशी के लिए दिल्ली में 1911 में आयोजित दरबार का साक्षी बना स्मारक बेरुखी और बेकद्री से गुजर रहा है। आज से 106 साल पहले 12 दिसंबर को इस शाही मजलिस में किंग जार्ज पंचम ने भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित करने की घोषणा की थी । राष्ट्रीय राजधानी के किंग्जवे कैंप के निकट बुराडी इलाके में, जिस जगह पर इस शाही दरबार का आयोजन किया गया था अब वह कोरोनेशन पार्क का एक हिस्सा है ।
वाशिंगटन। अमेरिका की यात्रा पर जाने वाले भारतीयों की संख्या में साल 2017 के पहले छह महीने में उल्लेखनीय कमी आई है। विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में हुए कई नीतिगत बदलाव इसकी वजह हो सकते हैं। 
इंटरनेट डेस्क। आज के समय में किसी महिला का अनजान शहर में अकेले घूमना खतरे से खाली नहीं है, लेकिन कुछ जगह ऐसी भी हैं जहां पर महिलाएं बिना किसी डर के अकेली ट्रेवल कर सकती हैं। अगर आप भी एक महिला हैं और अकेली ट्रेवल करने की शौकीन हैं तो आपके लिए ये डेस्टिनेशन बिल्कुल परफेक्ट हैं।
इंटरनेट डेस्क। पूरी दुनिया में बहुत सारे ऐसे जंगल हैं जिनके रहस्य को आज तक कोई नहीं समझ पाया है। ये जंगल बाहर से देखने में जितने शांत हैं अंदर से उतने ही खतरनाक हैं। यहां के बहुत सारे किस्से भी मशहूर हैं, जिसके कारण लोग यहां आने से डरते हैं। आइए आपको बताते हैं इन जंगलों के बारे में
इंटरनेट डेस्क। तेलंगाना तथा आन्ध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी है हैदराबाद, प्राचीन काल में इसे भाग्यनगर के नाम से जाना जाता था। इसे ’निज़ामों का शहर’ तथा ’मोतियों का शहर’ भी कहा जाता है। अपने उन्नत इतिहास, संस्कृति, उत्तर तथा दक्षिण भारत के स्थापत्य के मौलिक संगम, तथा अपनी बहुभाषी संस्कृति के लिये भौगोलिक तथा सांस्कृतिक दोनों रूपों में जाना जाता है।
अगरतला। भारतीय सैनिकों और 1971 के मुक्ति संग्राम में अपना जीवन आहुत करने वाले बांग्लादेशी स्वतंत्रता सेनानियों की याद में विशाल पार्क अगरतला से करीब 130 किमी दूर स्थित सीमावर्ती गांव छोत्ताखोला में बनाया गया है। बीस गुणा बीस हेक्टेयर में बने इस पार्क में छोटी-छोटी सात पहाड़ियां और तृष्णा वन्यजीव अभ्यारण के करीब एक झील भी शामिल है।
इंटरनेट डेस्क। सर्दियां शुरू हो चुकी हैं अगर आप इन सर्दियों में कहीं बाहर जाने का प्लान बना रहे हैं तो आप उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में जा सकते हैं। यहां पर स्थित कौसानी एक बहुत ही खूबसूरत पर्वतीय स्थल है।
जयपुर। जम्मू पर्यटन विभाग की निदेशक स्मिता सेठी ने आज यहां दावा किया है कि सरकार के शांति प्रयासों से जम्मू में पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 20 प्रतिशत पर्यटक ज्यादा आए। पर्यटन पर आयोजित प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए स्मिता सेठी ने कहा कि पिछले वर्ष एक करोड़ 20 लाख पर्यटक जम्मू आये थे जबकि इस वर्ष यह आंकड़ा 20 प्रतिशत जयादा रहेगा।
इंटरनेट डेस्क। शहरों में बढ़ते प्रदूषण के कारण लोग जब भी फ्री होते हैं तो किसी ऐसी जगह पर जाना पसंद करते हैं जहां हरियाली हो। जिससे वे इस दौरान घूमने के साथ ही स्वच्छ वायु को भी ग्रहण कर सकें। वहीं आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि इटली स्वच्छ वातावरण के लिए अपने शहरों को ही ग्रीन सिटी बनाने के प्रयास कर रहा है।

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.