नोटबंदी और जीएसटी का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पूरी तरह समाप्त: सरकार

Samachar Jagat | Saturday, 01 Sep 2018 09:25:26 AM
Banknote and GST impact on economy completely ended: Government

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर के 8.2 प्रतिशत की गति से बढ़ने का हवाला देते हुए शुक्रवार को कहा कि नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पूरी तरह से समाप्त हो गया है।

आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्बारा जून में समाप्त पहली तिमाही के आर्थिक आंकड़े जारी किये जाने के बाद मीडिया से कहा कि वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर 8.1 प्रतिशत रही थी।

इसके बाद वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में ये 5.6 प्रतिशत के निचले स्तर पर आ गई थी लेकिन अब चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह फिर से 8.2 फीसदी पर पहुंच गयी है। उन्होंने कहा कि पहली तिमाही के आंकड़ोे के आधार पर कहा जा सकता है कि चालू वित्त वर्ष में विकास दर 7.5 मुताबिक से अधिक रह सकती है।

आर्थिक सर्वेक्षण में इसके 7.0 प्रतिशत से 7.5 फीसदी के बीच रहने का अनुमान लगाया गया था लेकिन ये ऊपरी स्तर को पार कर सकती है। गर्ग ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी का अर्थव्यवस्था पर असर 6 माह पहले ही समाप्त हो गया था जब आर्थिक गतिविधियां पटरी पर आने लगी थी लेकिन आज के आंकड़ों ने इसकी पुष्टि कर दी है।

उन्होंने कहा कि विनिर्माण, निर्माण और कृषि क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन से आर्थिक गतिविधियां 8 प्रतिशत के स्तर को पार सकी है। सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 10 प्रतिशत की दर से आगे बढने के प्रधानमंत्री के बयान के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में किसी एक तिमाही में ऐसा हो सकता है लेकिन वार्षिक आधार पर ऐसा बहुत ही महत्वकांक्षी लक्ष्य हो सकता है।

डॉलर की तुलना में रुपए के अब तक रिकार्ड निचले स्तर पर लुढकने और तेल की कीमतों में तेजी आने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह अस्थायी बढ़ोतरी है लेकिन महंगाई पर इसका असर हो सकता है।

तेल की कीमते बढने का महंगाई सीधा असर होता है और रुपए में गिरावट से भी महंगाई बढ़ती है। उन्होंने कहा कि रुपए में गिरावट और तेल की कीमतों में बढ़ोतरी दोनों आपस में कुछ हद तक जुड़े हुए हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.