फ्लिपकार्ट ने कृत्रिम मेधा आधारित स्टार्टअप 'लिव डाट एआई’ का किया अधिग्रहण

Samachar Jagat | Tuesday, 28 Aug 2018 12:24:22 PM
Flipkart acquired artificial Medha based startup live dot AI

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। फ्लिपकार्ट ने यूजर्स को सभी भाषाओं में टाइपिंग की सुविधा के लिए और आवाज समाधान के लिए लिव डॉट का अधिग्रहण किया है।  ई-वाणिज्य कंपनी फ्लिपकार्ट ने 'लिव डॉट एआई’ का अधिग्रहण किया है। हालांकि, कंपनी ने सौदे की राशि का खुलासा नहीं किया है। इस अधिग्रहण से कंपनी को 20 करोड़ ऑनलाइन खरीदारों के उसके मंच से जुड़ने का अनुमान है। लिव डॉट एआई कृत्रिम मेधा आधारित बोली पहचान से जुड़ी स्टार्टअप कंपनी है। फ्लिपकार्ट ने बयान में कहा कि अधिग्रहण के बाद लिव डॉट एआई आवाज समाधान के लिए उत्कृष्ट केंद्र बनेगा और उसके उपयोगकर्ताओं के लिए बातचीत के आधार पर खरीदारी का अनुभव उपलब्ध कराने में मदद करेगा।

स्वर्ण मौद्रिकरण योजना के तहत जमा सोने को सीआरआर में शामिल करने का सुझाव: नीति समिति

वर्ष 2015 में स्थापित लिव डॉट एआई पहली भारतीय कंपनी है जो बोली को 'टेक्स्ट एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस ( एपीआई ) में बदलती है। यह हिंदी, बंगाली, पजाबी, मराठी, गुजराती, कन्नड़, तमिल, और मलयालम समेत 10 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। अमेरिकी खुदरा कंपनी वालमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सदारी अधिग्रहण के लिए हाल ही में 16 अरब डालर का सौदा किया है।

पिछले हफ्ते लॉन्च हुए अमेजन के इस एक्सक्लूसिव स्मार्टफोन की आज सभी ग्राहकों के लिए होगी बिक्री

फ्लिपकार्ट के मुख्य कार्यपालक अधिकारी कल्याण कृष्णमूर्ति ने कहा, ''इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या में अगली वृद्धि अब छोटे एवं मझोले शहरों से होगी। करीब 70 प्रतिशत इंटरनेट उपयोगकर्ता देशी भाषा में बोलते हैं और यह अनुपात बढ़ रहा है।’’उन्होंने कहा कि देशी भाषाओं में 'कीबोर्ड’ में टाइपिंग में होने वाली दिक्कतों को देखते हुए अब खरीदारों के लिए आवाज तरजीही जरिया बन गया है। - एजेंसी

परफॉर्मेंस और स्पीड के बाद कारों में इन फीचर का होना बहुत जरूरी, कार खरीदने से पहलें आप भी देख लें ये फीचर

इस भोजपुरी सुपरस्टार से पैसे मांगने आई थी ये गरीब महिला, बंधवा ली राखी देखें Video

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.