चौथी तिमाही में साउथ इंडियन बैंक का शुद्ध लाभ बढ़कर हुआ 114 करोड़ रुपए

Samachar Jagat | Tuesday, 15 May 2018 12:35:08 PM
South Indian Banks net profit increased to Rs 114 crore in Q4

नई दिल्ली। साउथ इंडियन बैंक का शुद्ध लाभ मार्च तिमाही में 51 प्रतिशत बढ़कर 114.10 करोड़ रुपए हो गया। ब्याज से होने वाली आय और डूबे कर्ज के मद में कम प्रावधान इसकी प्रमुख वजह रही। 2016-17 की जानवरी-मार्च अवधि में यह 75.54 करोड़ रुपए था। बैंक ने नियामकीय जानकारी में कहा कि 2017-18 की मार्च तिमाही में आय बढ़कर 1,767.65 रुपए हो गई, जबकि इससे एक वर्ष आय 1,608.42 करोड़ रुपए थी।

ब्याज से आय 8 प्रतिशत बढ़कर 1,470.71 करोड़ रुपए पहुंच गई। आलोच्य अवधि में बैंक की फंसी परिसंपत्तियां बढ़ने के बावजूद डूबे कर्ज और आकस्मिक व्यय के मद में 148.63 करोड़ रुपए का प्रावधान करना पड़ा, जो कि एक वर्ष पहले की अवधि में 165.30 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था। 

परिसंपत्ति के मोर्च पर, बैंक का सकल एनपीए 2.45 प्रतिशत से बढ़कर 3.59 प्रतिशत हो गया। वहीं मूल्य के लिहाज से सकल एनपीए 2016-17 की चौथी तिमाही में 1,149.01 करोड़ रुपए से बढ़कर 1,980.30 करोड़ रुपए हो गया। बैंक का शुद्ध एनपीए भी 1.45 प्रतिशत से बढ़कर 2.60 प्रतिशत हो गया। 

बैंक के निदेशक मंडल ने 2017-18 के लिए 40 पैसे प्रति शेयर के लिहाज से लाभांश की सिफारिश की है। हालांकि पूरे वित्त वर्ष में बैंक का शुद्ध लाभ 15 प्रतिशत गिरकर 334.89 करोड़ रुपए रहा, जो कि 2016-17 में 392.50 करोड़ रुपए था। कुल आय बढ़कर 6,562.64 करोड़ रुपए से 7,030.06 करोड़ रुपए हो गई। 2017-18 में एनपीए के मद में 980.90 करोड़ रुपए का प्रावधान करना पड़ा, जो कि 2016-17 में 614.37 करोड़ रुपए था। -एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.