कृषि परियोजनाओं के लिए विश्वबैंक ने महाराष्ट्र को दिए 1,500 करोड़ रुपये

Samachar Jagat | Thursday, 06 Dec 2018 09:10:21 AM
World Bank offers Rs 1,500 crore to Maharashtra for agricultural projects

मुंबई। महाराष्ट्र में विश्वबैंक से वित्तपोषित परियोजनाओं के लिए बुधवार को लगभग 50 कंपनियों ने 2,000 करोड़ रुपये साझेदारी समझौतों पर हस्ताक्षर किए। इन परियोजनाओं का लक्ष्य कृषि क्षेत्र का रूपांतरण करना है जिससे किसानों की बेहतर आय सुनिश्चित हो सके।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को यहां कहा कि कृषि व्यवसाय और ग्रामीण परिवर्तन परियोजना में किये जाने वाले 2,000 करोड़ रुपये के निवेश में, विश्व बैंक 1,500 करोड़ रुपये का योगदान दे रहा है, जबकि राज्य की ओर से 430 करोड़ रुपये का वित्त पोषण हो रहा है और शेष 70 करोड़ रुपये ‘विलेज सोशल ट्रांसफॉर्मेशन फाउंडेशन’ के माध्यम से लिये जाएंगे। 

उन्होंने कहा कि परियोजना का उद्देश्य कृषि मूल्य श्रृंखला में सुधार करना और किसान के मूल्य प्राप्ति की स्थिति में सुधार लाना है। उन्होंने कहा कि बुधवार को 49 कंपनियों ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

विलेज सोशल ट्रांसफॉर्मेशन फाउंडेशन ने 22 निगमित कंपनियों और ‘स्टार्ट-अप’ के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं ताकि अंतिम खरीदारों के साथ सीधा समझौता सुनिश्चित करके किसानों के लिए कृषि उत्पादकता और उच्च मूल्य प्राप्ति को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया जा सके। जिन बड़े नामों ने इस साझेदारी में भागीदारी की है उनमें से कुछ बड़े नाम टाटा समूह, वॉलमार्ट इंडिया, अमेजन, आईटीसी, मभहद्रा एग्रो और पतंजलि हैं। फड़णवीस ने कहा कि यह परियोजना अगले तीन वर्षों में 10,000 गांवों तक पहुंच जाएगी जो तीन लाख किसानों को लाभान्वित करेगी।

विश्वबैंक के भारत में निदेशक जुनाद अहमद ने कहा कि महाराष्ट्र का उत्पादन-आधारित खेती से बाजार आधारित खेती की ओर जाना सराहनीय कदम है। जैसे-जैसे अर्थव्यवस्था विकसित होती है और शहरीकरण बढ़ता है, तो किसी को भी पीछे नहीं छोड़ा जाना चाहिए और कृषि को विकसित करना ही होगा। वॉलमार्ट इंडिया के अध्यक्ष कृष्णा अय्यर ने कहा कि उनकी कंपनी राज्य में अगले तीन-पांच वर्षों में 15 स्टोर खोलेगी जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों स्तर पर 30,000 से 35,000 रोजगार पैदा करेंगे। अय्यर ने यह भी कहा कि उनकी कंपनी लगभग पांच बागवानी फसलों को खरीदने की योजना बना रही है, जिनमें स्ट्रॉबेरी, अनार, अंगूर इत्यादि शामिल हैं। इसके लिए उसने पहले से ही जमीनी काम शुरू कर दिया है और भर्ती चालू कर दी है। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.