संस्कृत स्कूलों में अनिवार्य विषय के तौर पर पढ़ाया जाए

Samachar Jagat | Saturday, 12 May 2018 03:20:26 PM
Sanskrit  teach as a compulsory subject In schools

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

हैदराबाद। भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि संस्कृत को स्कूलों में मातृभाषा के साथ एक अनिवार्य विषय बनाया जाना चाहिए।

झारखंड हाई कोर्ट में निकली पर्सनल असिस्टेंट की भर्ती

स्वामी ने यहां एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा, '' मेरे विचार से संस्कृत को अनिवार्य बना दिया जाना चाहिए ... मातृभाषा और संस्कृत को अनिवार्य बनाया जाना चाहिए, तीसरी (भाषा) वैकल्पिक है। ’’

ओपन स्कूल से 12 वीं पास करने वाले छात्र भी बैठ सकेंगे के नीट परीक्षा में

उन्होंने दावा किया कि एक कम्प्युटर में कृत्रिम सूचना स्टोर करने के लिए संस्कृत एकमात्र स्वीकार्य भाषा है। उन्होंने कहा कि भारत के पास गणित और विज्ञान जैसे विभिन्न विषयों के लिए ध्वनि ज्ञान है।

BOB में इन पदों पर निकली भर्ती

उन्होंने कहा, '' हम वे लोग हैं जो गणित, विज्ञान, औषधि और सर्जरी में शीर्ष पर थे। हमारे पास इसके निर्देश थे कि एक विमान कैसे निर्मित करना है।’’ एजेंसी

गुजरात बोर्डः 12वीं विज्ञान प्रवाह के परिणाम घोषित

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.