अध्ययन: शिक्षण का पेशा अपनाने के लिए शानदार कॉरपोरेट नौकरियां छोड़ रहे युवा

Samachar Jagat | Thursday, 06 Sep 2018 10:44:03 AM
Study: Youth leaving great corporate jobs to adopt a learning profession

नई दिल्ली। एक अध्ययन में पाया गया है कि भारत में 1980 के बाद पैदा हुए युवा (मिलेनियल्स) अपनी शानदार कॉरपोरेट नौकरियां छोड़कर शिक्षक का पेशा अपना रहे हैं ताकि अपने कौशल का सही इस्तेमाल कर छात्रों को ज्ञान से लैस कर सकें।

पेपर लीक की घटनाओं से निपटने के लिए प्रश्नपत्रों के कई सेट तैयार कराएगा UPSSSC 

बेंगलूर स्थित शिक्षण प्रौद्योगिकी स्टार्टअप 'कूमैथ’ की ओर से 3,000 से ज्यादा शिक्षकों पर कराए गए इस अध्ययन में खुलासा हुआ है कि शिक्षक के तौर पर करियर विकल्प चुन रहे 1980 के बाद पैदा हुए युवाओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। 

आईसीएआर ने स्कूल में कृषि को लेकर बने समर्पित पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए एचआरडी मंत्रालय से किया अनुरोध 

इस विश्लेषण के मुताबिक, 50 फीसदी शिक्षक ऐसे हैं जिन्हें कॉरपोरेट नौकरी का अनुभव है। इन आंकड़ों से यह खुलासा भी हुआ है कि 58 फीसदी से ज्यादा शिक्षक 20-35 वर्ष के आयु वर्ग में हैं जो एक दशक पहले के आंकड़ों से बहुत अलग है। 

5वीं व 8वीं पास युवाओं के लिए कृषि विभाग में निकली भारी वैकेंसी, इस डेट से पहले करें आवेदन 

अध्ययन के मुताबिक, 53 फीसदी शिक्षकों ने एमई, एम.टेक, एम.कॉम, एमबीए और पीएचडी को अपनी पहली या सर्वोच्च योग्यता बताया जबकि 44 फीसदी शिक्षकों ने बीई, बी.टेक, बीएससी को अपनी योग्यता बताया।

स्नातक पास युवाओं के लिए नौकरी पाने का सुनहेरा मौका, यहां निकली भर्ती

'कूमैथ’ के संस्थापक और सीईओ मनन खुरमा ने बताया, ''ढेरों कामकाजी पेशेवर आज शिक्षण का पेशा अपना रहे हैं, क्योंकि शिक्षण को करियर के तौर पर अपनाने से उन्हें संतुष्टि मिलती है।’’ आपको बता दें कि लोग आज के समय में शिक्षा अधिक महत्व दें रहे। जिससे की लोगों में काफी बदलाव भी नजर आ रहा है। पहले तो शहरों में शिक्षा अधिक महत्व दिया गया था, लेकिन अब गांवो में इसके प्रति बदलाव नजर आ रहा है। शिक्षा व्यक्ति के जीवन के लिए अहम है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.