महिला अत्याचार में बारह प्रतिशत कमी : कटारिया

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 12:13:17 PM
12 percent reduction in female atrocities: Katariya

जयपुर। राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने कहा है कि प्रदेश में गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष मार्च तक आईपीसी के अपराधों में करीब एक प्रतिशत एवं महिला अत्याचार के अपराधों में बारह प्रतिशत की कमी आई है। 

कटारिया यहां पुलिस मुख्यालय में आयोजित पुलिस विभाग की मासिक समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। पुलिस कर्मियों से सम्बन्धित मृतक आश्रितों की नियुक्ति के लम्बित मामलों को प्राथमिकता से निस्तारित किया जायेगा। 

उन्होंने बैठक में पुलिस विभाग के रिक्त पदों को भरने के सम्बन्ध की जा रही कार्यवाही, पदोन्नतियां, अभय कमाण्ड सेन्टर, सडक दुर्घटनाओं एवं साईबर अपराध की रोकथाम के लिए की जा रही कार्यवाही तथा अन्य मामलों की विस्तार से समीक्षा की एवं निर्देश दिये। 

उन्होंने बताया कि प्रदेश के इस वर्ष के बजट में 8 हजार 412 पुलिस कांस्टेबलों पदों पर भर्ती, 13 नये वृत, 28 थाने, 26 नयी चौकियां स्थापित करने एवं पुलिस वाहनों के लिए 35 करोड़ रूपये की राशि की घोषणा की गई है। इसके साथ ही मैस भते में वृद्धि एवं होमगार्ड कर्मियों के मानदेय में लगभग दुगनी वृद्धि की गई है। राज्य में स्थापित अभय कमाण्ड सेन्टर में कुल 942 पदों का प्रावधान रखा गया है। कांस्टेबल से लेकर पुलिस निरीक्षक पद तक एक समान रूप से दो हजार रुपये महीना मैस भता लगाया गया है। 

कटारिया ने बताया कि सडक दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए व्यापक व्यवस्थाएं की गई है। उन्होंने सडक दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए यातायात पुलिस द्वारा जन जागरूकता लाने पर बल दिया और कहा कि यातायात पुलिस का ध्येय सिर्फ चालान काटना नहीं बल्कि यातायात को सुचारू रूप से संचालित करना है। 

उन्होंने यातायात की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की और यातायात पुलिस में पुलिसकर्मियों की नफरी बढाने की आवश्यकता प्रतिपादित की और इस सम्बन्ध में प्रस्ताव भिजवाने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने मुलजिमों की समय पर पेशी सुनिश्चित करने के लिए चालानी गार्ड के पदों की पुन: समीक्षा कर पद बढाने के प्रस्ताव भेजने के लिए भी निर्देश दिये। 

उन्होंने जयपुर, उदयपुर एवं झालावाड में इन्टेलीजेन्ट टे्रेफिक मैनेजमेन्ट सिस्टम प्रारम्भ करने के लिए प्राप्त प्रस्तावों को स्वीकृत करने हेतु वित्त विभाग से समन्वय स्थापित करने के लिए कहा। उन्होंने बताया कि राजस्थान पुलिस अकादमी में साईबर क्राईम रोकने के लिए अलग से लैब के साथ ही महिलाओं एवं बच्चों के विरूद्व होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए प्रशिक्षण केन्द्र भी खोला जायेगा। 

उन्होंने अलवर, जयपुर, बीकानेर एवं दौसा जिला पुलिस की मालखाना निस्तारण प्रक्रिया की तारीफ करते हुए अन्य जिलों में भी पहल कर इस प्रकार मालखाना निस्तारण के निर्देश दिये। उन्होंने थानों पर छोड़ गये नाकारा वाहनों को हटाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने पुलिस विभाग में मृतक आश्रितों के लम्बित आवेदनों को प्राथमिकता से निस्तारित करने के निर्देश दिये। 

उन्होंने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रति अत्याचारों की रोकथाम के प्रति विशेष गम्भीरता बरतने तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रति अत्याचारों की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाने के लिए भी निर्देश दिये। -(एजेंसी)
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.