कोटा में नियमों को दरकिनार करने वाली क्रेशर फर्मो पर कार्रवाई, एमई को सौंपी रिपोर्ट

Samachar Jagat | Friday, 11 Oct 2019 12:32:58 PM
Action on crusher firms that circumvent the rules in Kota, report submitted to ME

करोड़ों रूपए के पत्थर का स्टॉक मिला, लग सकती है करोड़ों की पेनल्टी


loading...

इंटरनेट डेस्क। कोटा क्षेत्र में अवैध खनन को लेकर विजीलेंस टीम ने अवैध क्रेशर पर कार्रवाई की। इस दौरान टीम ने मौके पर खनन स्टॉक की जांच की और टीपी और चालान के आंकड़े जुटाए। यह कार्रवाई मंडाना, नंता समेत कई इलाकों में की गई। विजीलेंस टीम की ओर से आज इसकी रिपोर्ट एमई को सौंप दी गई ताकि टीपी और चालान के आंकड़ों से मिलान कर पेनल्टी की गणना की जा सके।

हानिकारक तत्वों से युक्त पान मसाला मामले में नया मोड, चिकित्सा विभाग व पुलिस आमने-सामने

कितनी क्रेशर अवैध रूप से चल रही है, इसका भी सर्वे कर रिपोर्ट सौंपी गई है। अवैध रूप से खनन करने और नियमों को दरकिनार कर लगाई गई क्रेशर पर कार्रवाई रिपोर्ट के अध्ययन के बाद की जाएगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटा के मंडाना, नंता व बुधपुरा में लगी क्रेशर पर विजीलेंस टीम पहुंची। इस दौरान वहां करोड़ों रूपए के पत्थर का स्टॉक मिला। जय सांवरिया, सिद्धार्थ गोयल समेत कई क्रेशर पर कई अनियमितताएं मिली। इन क्रेशर को विभाग की ओर से कितनी टीपी जारी की गई और मौके पर अलग आंकड़े मिली। बाहर से लाई जा रही खनन सामग्री और चालान में अंतर का मिलान एमई कार्यालय की ओर से किया जाएगा।

जैसलमेर कोऑपरेटिव बैंक में भ्रस्टाचार: किसानों से वसूले आठ करोड़ सुविधा शुल्क के नाम पर ,बीज ऋण के भुगतान में 

उल्लेखनीय है कि कई क्रेशर पर अवैध खनन सामग्री लाई जा रही है। तय मंजूरी से ज्यादा खनन स्टॉक करने की लगातार शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद विभाग हरकत में आया। अभी तक एमई कार्यालय की ओर से विजीलेंस की रिपोर्ट का मिलान करने के बाद नियमों को दरकिनार करने वाली क्रेशर पर कार्रवाई की जाएगी। विजीलेंस एमई अविनाश कुलदीप, एमई राजेंद्रसिंह बलारा की टीम ने कार्रवाई की। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.