विश्व रक्तदाता दिवस पर हुआ रक्तदाताओं का सम्मान

Samachar Jagat | Thursday, 14 Jun 2018 04:16:06 PM
Blood donors respected on World Blood Donor Day

जयपुर। विश्व रक्तदाता दिवस पर गुरुवार को स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक परिसर में इस वर्ष की थीम ''किसी अनजान के लिए रक्तदान कर जीवन बचाएं'' पोस्टर का विमोचन आईएमए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. एस एस अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर नियमित रक्तदान करने वाले रक्तदाताओं का सम्मान भी किया गया। इनमें सौ बार रक्तदान करने वाले डॉ. अशोक कासलीवाल, 50 बार रक्तदान करने वाले, पिता-पुत्र प्रदीप सिखवाल-प्रतीक सिखवाल, चाचा- भतीजे कैलाश साबू-राजेश साबू, भाईयों के जोडे सुनील खवाड- संजय खवाड-, बहिनों का जोडा डॉ. आशु अग्रवाल- डॉ. ताशी अग्रवाल और पति-पत्नी के जोडे श्याम बिहारी -चन्द्रकांता अग्रवाल तथा सतीश सिंघल-छबि सिंघल आदि के अलावा डॉ. हिमांशु शर्मा, झामनदास टेकचंदानी, डॉ. शिवराज शर्मा सहित अनेक रक्तदाताओं का सम्मान हुआ। 

इस अवसर पर स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक के मानद सचिव डॉ. एस एस अग्रवाल ने कहा कि आज के दिन का महत्व रक्तदाताओं का सम्मान करने का है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस दिन को रक्तदाता दिवस के रूप में घोषित किया गया है। वर्ष 2004 में स्थापित इस कार्यक्रम का उद्देश्य स्वैच्छिक रक्तदाताओं द्वारा रक्तदान करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करते हुए आभार व्यक्त करना है। 

स्वैच्छिक रक्तदान में राजस्थान अभी 24 वें पायदान पर :-

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि वर्ष 2017-18 में राजस्थान में 62.19 प्रतिशत स्वैच्छिक रक्तदान हुआ है। इस क्षेत्र में राजस्थान राज्य 24 वें पायदान पर है। भारत में कुल 1 करोड 11 लाख रक्तदाता हैं जिसमें 8 लाख 54 हजार स्वैच्छिक रक्तदाता हैं। राजस्थान में कुल 6 लाख 90 हजार 813 यूनिट रक्तदान हुआ है एवं जयपुर में 1 लाख 95 हजार 092 रक्तदान हुआ है। अकेले स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक में 36 हजार 766 इकाई रक्त दान हुआ है। राजस्थान में वर्ष 2017-18 में कुल 6576 कैम्प आयोजित हुए। इनमें जयपुर में 1392 एवं 464 कैम्प स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक द्वारा आयोजित किए गए जो कि जयपुर का 33.33 प्रतिशत है। राजस्थान में कुल 11 लाख 04 हजार 275 यूनिट सप्लाई की गई। वर्ष 2017-18 में प्रतिदिन 3025 यूनिट रक्त सप्लाई की गई। 

सौ फीसदी स्वैच्छिक रक्तदान का लक्ष्य हांसिल करेंगे

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि कोई भी रक्तदाता हर तीन माह के अंतराल में रक्त दान कर सकता है। बशर्ते कि उसका हीमोग्लोबिन 12.5 प्रतिशत प्रति मिली ग्राम हो और उसे किसी प्रकार की गंभीर अथवा रक्तजनित बीमारी न हो। उन्होंने बताया कि हमारा उद्देश्य यही है कि राजस्थान में स्वैच्छिक रक्तदान का प्रतिशत सौ फीसदी हो ताकि हर जरूरतमंद व्यक्ति को बिना एवज़ में रक्त दिए रक्त सुलभ हो सके। इसके लिए अग्रवाल ने बताया कि हम चाहते हैं कि रक्तदान सतत हो , चाहे कम मात्रा में ही हो ताकि रक्त की आपूर्ति भी बनी रहे। उन्होंने कहा कि रक्तदाताओं के उत्साह और जोश को देखते हुए लगता है कि हम जल्दी ही इस लक्ष्य को हांसिल कर लेंगे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.