बंगलों में समान चोरी होने पर पूर्व मुख्यमंत्रियों को मिलेगा नोटिस 

Samachar Jagat | Monday, 11 Jun 2018 04:21:31 PM
Former Chief Ministers will get notice on similar stolen property in bungalows

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश का राज्य संपत्ति विभाग ने हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए गए बंगलों में सरकारी संपत्ति के नुकसान की जांच का फैसला लिया गया है। संपत्ति अधिकारी योगेश शुक्ला ने सोमवार को बताया कि विभाग के कर्मचारियों ने खाली बंगलों के सामान की सूची बनानी शुरू कर दी है।

अगर कोई सामान गायब मिलता है तो उस स्थिति में सम्बंधित पूर्व मुख्यमंत्री को नोटिस भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, राजनाथ सिंह, मायावती और मुलायम सिंह यादव के खाली किए गए सरकारी बंगलों में सामान का मिलान पुराने दस्तावेजों में दर्ज सामान से कराया जा रहा है इसके बाद बंगलों में गायब सामान की सूची बनाई जाएगी।

गत शनिवार को संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा खाली किए गए बंगले को मीडिया की मौजूदगी में खोला था। बंगले में कई जगह टूट-फूट पाई गई थी। इस मामले में राज्य के मौजूदा परिवहन राज्य मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने रविवार को मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी।

सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने बंगले में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा कर उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवहेलना की। जांच में सच्चाई का पता चल जाएगा। खुद को गरीब और निचले तबके का हमदर्द बताने वाले अखिलेश यादव जैसे नेता असल में जनता की गाढ़ी कमाई से विलासिता का जीवन जीने के आदी हैं।

समाजवादी बसपा के लिए सीटें त्यागने को तैयार

एसी और इटालियन टाइल्स उन्हें नहीं निकालनी चाहिए थी क्योंकि यह उनकी निजी नहीं बल्कि सरकारी संपत्ति है।  उधर, अखिलेश यादव ने स्वयं का बचाव करते हुए भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगले का मुद्दा को उछाल कर सत्तारूढ दल उनकी बेदाग छवि को बदनाम करने का कुचक्र रच रहा है।

मैंने सिर्फ अपनी लगाई चीजों को बंगले से निकाला है। मैंने कोई भी महंगा सामान बंगले से नहीं निकाला बल्कि प्रभु कृष्ण का मंदिर और महंगे पेड़ पौधे पर उन्होंने हाथ भी नहीं लगाया। इसके बावजूद सरकार मुझे गायब सामान की सूची मुहैया कराए, मैं उसका भुगतान कर दूंगा हालांकि सरकार का वह सामान लौटाना होगा, जिसे मैंने वहां लगाया था।

उपेंद्र कुशवाहा का महागठबंधन में शामिल होने से इंकार

उल्लेख है कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद पिछली दो जून को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपना सरकारी बंगला छोड़ दिया था। अखिलेश अब सुल्तानपुर रोड पर अंसल टाउनशिप में परिवार संग रहते हैं। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री और वयोवृद्ध कांग्रेसी नेता नारायण दत्त तिवारी ने अभी अपना बंगला खाली नहीं किया है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.