नेशनल एजेंडा फोरम को MNIT का समर्थन, तय करेंगे देश का एजेंडा

Samachar Jagat | Thursday, 09 Aug 2018 03:05:56 PM
National Agenda Forum will support MNIT, decide on country's agenda

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती वर्ष के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए शुरू की गई पहल ‘नेशनल एजेंडा फोरम’(NAF) के अंतर्गत 350 पार्ट टाइम एसोसिएट्स (PTAs) ने सोमवार को मालवीय NIT में आयोजित आउट रीच कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम में शामिल हुए छात्रों ने देश का एजेंडा तय करने की इस पहल का समर्थन किया।

कार्यक्रम के दौरान गांधीजी के 18 संरचनात्मक बिंदुओं के बारे में छात्रों को जानकारी दी गई। कार्यक्रम में संवाद के दौरान कॉलेज के छात्रों ने इस समय सबसे बड़ी समस्या रोजगार को बताया। छात्रों ने रोजगार की समस्या को राष्ट्र के एजेंडे में प्राथमिक रूप से शामिल करने के लिए वोटिंग की। इसके अलावा छात्रों ने देश में डिजिटल पेनीट्रेशन बढ़ाने की भी बात कही। छात्रों के बीच गांधी जी के 18 सूत्रीय कार्यक्रम पर चर्चा भी हुई और आज भी उनकी प्रासंगिकता छात्रों ने मानी। साथ ही छात्रों ने अपनी तरफ से देश के एजेंडा के लिए विचार रखे।

इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमिटी (I-PAC) ने महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए 29 जून 2018 को नेशनल एजेंडा फोरम (NAF) लॉन्च किया है। NAF एक देशव्यापी पहल है, जिसके  जरिए गांधीजी के 18-सूत्रीय रचनात्मक कार्यक्रम पर चर्चा को पुनर्जीवित करना और इस चर्चा के जरिए देश की प्राथमिकताओं को पुनर्कल्पित और सहनिर्मित कर, समकालीन भारत के लिए क्रियान्वयन योग्य एजेंडा तैयार करना है।

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर लॉन्च किए गए नेशनल एजेंडा फोरम के तहत 14 अगस्त 2018 तक सभी नागरिक https://www.indianpac.com/naf/ पर लॉग इन कर अपना वोट देकर एजेंडा तय कर सकते हैं, 15 अगस्त 2018 को लोगों द्वारा तय किए गए देश के एजेंडा का ऐलान होगा।

अब तक 6 देश एवं 20 राज्यों के 225 प्रतिष्ठित शख्सियत, 4,000 से अधिक कॉलेजों से 50,000 युवा एसोसिएट्स NAF से जुड़ चुके हैं। साथ ही 346 जिलों में फैले 283 सामाजिक संगठनों ने भी NAF को अपना समर्थन दिया है।

नेशनल एजेंडा फोरम अब तक विविध समूह एवं संगठन के लोगों से समर्थन हासिल कर चुका है, जिसमें ये लोग शामिल हैं :

·       यूनेस्को- एमजीआईईपी ने गांधीजी के 18-सूत्रीय रचनात्मक कार्यक्रम पर आधारित, जनता के एजेंडे को तय करने, सतत विकास एवं शांति का प्रसार करने के लिए NAF के द्वारा किए जा रहे प्रयास को समर्थन दिया है।

·       अरूण मोनीलाल गांधी (महात्मा गांधी के पोते), तुषार गांधी (महात्मा गांधी के पड़पोते) और नीलम गांधी (महात्मा गांधी की परपोती) ने समर्थन दिया है।

·       प्रो. रामजी सिंह (स्वतंत्रता सेनानी एवं भारत में गांधीवादी विचार के अध्ययन में अग्रणी), डॉ. रविन्द्र कुमार (पद्म श्री सम्मान से सम्मानित), नटवर ठक्कर (पद्म श्री एवं जमनालाल बजाज सम्मान से सम्मानित),डॉ. डी. चेल्लादुरई (डीन, गांधी रिचर्स फाउंडेशन), बाजी मोहम्मद (स्वतंत्रता सेनानी) जैसे गांधीवादी लोगों ने समर्थन दिया है।

·       गांधी स्मारक निधि, सर्वोदय आश्रम, गांधी मिशन इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ इंडिया जैसे गांधीवादी संस्थानों ने अपना समर्थन दिया है।

·      तीजनबाई (कलाकार एवं पद्म भूषण से सम्मानित), राजन मिश्रा (भारतीय शास्त्रीय संगीत गायक एवं पद्म भूषण से सम्मानित), डॉ. ब्रह्म दत्त (कुष्ठरोग के क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य के लिए पद्म श्री से सम्मानित), डॉ उषा किरण (पद्म श्री एवं साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित) एवं अन्य नागरिक सम्मान से सम्मानित लोगों ने अपना समर्थन दिया है। 

·       न्यायाधीश एन. एन. माथुर (राजस्थान एवं गुजरात हाई कोर्ट के भूतपूर्व न्यायाधीश), रणजीत शेखर मूशहरी (मेघालय के पूर्व राज्यपाल) जैसे प्रतिष्ठित सरकारी कर्मचारियों ने समर्थन दिया है।

·      मैरी कॉम (बॉक्सर एवं ओलंपिक पदक विजेता), पीटी ऊषा (ट्रैक एथलिट, एशियन गेम्स में पदक विजेता), बबीता फोगाट (पहलवान एवं कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक विजेता), आई एम विजयन(भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान), ईश्वर पांडेय (क्रिकेटर) जैसे खेल से जुड़े लोगों ने समर्थन दिया है।

·     पीयूष मिश्रा (अभिनेता, पटकथा लेखक एवं गीतकार), श्याम रंगीला (मिमिक्री आर्टिस्ट), पम्मी बाई (गायक, गीतकार एवं भंगड़ा डांसर), रज़ा मुराद (अभिनेता) एवं अन्य मनोरंजन से जुड़ी शख्सियतों ने अपना समर्थन दिया है।

 

I-PAC की आगामी दो सप्ताहों में 21 राज्यों के 750 कॉलेज के छात्रों एवं 320 सामाजिक संस्थाओं तक पहुंचने की योजना है। NAF के लिए वोटिंग जारी है; नागरिक www.indianpac/naf पर लॉग इन कर NAF का हिस्सा बन सकते हैं और वोट देकर अपना एजेंडा एवं नेता चुन सकते हैं।

I-PAC के बारे में

इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमिटी (I-PAC) छात्रों एवं युवा पेशेवरों की पंसद का एक ऐसा मंच है, जो उन्हें किसी भी राजनीतिक पार्टी के साथ जुड़े बिना देश की राजनीति एवं प्रशासन में अर्थपूर्ण भागीदारी का अवसर प्रदान करता है।

2013 में सिटिजन फॉर एकाउंटेबल गवर्नेंस (CAG) के रूप में शुरू हुए I-PAC ने विविध शैक्षणिक एवं पेशेवर पृष्ठभूमि से जुड़े मेधावी युवाओं को एक साथ लाकर, उन्हें चुनावी प्रक्रिया का हिस्सा बनने एवं नीति-निर्धारण मेंप्रभावी योगदान देने का एक अनूठा अवसर प्रदान किया है।I-PAC बेहतर ट्रैक रिकॉर्ड वाले दूरदर्शी नेताओं के साथ काम करता है। इस प्रक्रिया में, I-PAC नेताओं को नागरिक-केंद्रित एजेंडा तय करने, उन्हें मूर्त रूप देने और जनता के बीच ले जाने के सबसे प्रभावी तरीकों को अपनाने एवंव्यापक जन-समर्थन प्राप्त करने में मदद करता है।

NAF से जुड़े अपडेट्स के लिए हमारा ट्विटर हैंडल https://twitter.com/IndianPAC देखें।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.