जहरीली शराब का कहर, मरने वालों की संख्या 81 हुई

Samachar Jagat | Sunday, 10 Feb 2019 09:44:38 AM
Poisonous liquor , 81 people died

हरिद्वार/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और कुशीनगर जिलों में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 57 हो गई है और उत्तराखंड के हरिद्वार में इसके कारण 24 लोगों की मौत हो गई है। सहारनपुर के मुख्य चिकित्साधिकारी बी एस सोढी ने यूनीवार्ता को बताया कि अस्पताल में भर्ती नौ और लोगों ने शनिवार सुबह दम तोड़ दिया जिनका पोस्टमार्टम किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि शराब पीने की वजह से बीमार लोगों के अस्पताल पहुंचने का सिलसिला अभी जारी है जिनके समुचित इलाज की व्यवस्था की गई है। इससे पहले जिलाधिकारी आलोक पांडे और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पिछले 24 घंटे में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढकर 46 पर पहुंच गई है।

अपुष्ट सूत्रों ने हालांकि सहारनपुर में मृतकों की संख्या 55 बताई है। उत्तराखंड के हरिद्बार जिले में जहरीली शराब पीने से शनिवार को आठ और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढकर 24 हो गई है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) जन्मेजय खंडूरी ने पत्रकारों को बताया कि घटना को लेकर शिकायत दर्ज की गई है। इस मामले में कई लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। शवों का पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों की सही जानकारी मिल पाएगी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इस प्रकरण की शीघ्र न्यायिक जांच कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को इस मामले में दोषी पाये जाने वालों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपए और गम्भीर रूप से बीमारों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

उत्तर प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी हिस्से में एक साथ घटित इस हादसे के बाद चौकन्ना हुई राज्य सरकार ने समूचे प्रदेश में शराब माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। गोंडा,बलरामपुर,उरई,हरदोई,कानपुर और बलिया समेत प्रदेश के तमाम इलाकों में अवैध शराब का कारोबार करने वालों पर पुलिस की कार्रवाई जारी है।

इस दौरान हजारों लीटर अवैध शराब और लहन नष्ट किया जा चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को दो लाख रुपए और अस्पताल में भर्ती लोगों के इलाज के लिए 50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है। उन्होने आबकारी विभाग के प्रमुख सचिव और पुलिस महानिदेशक को शराब माफियाओं की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के साथ-साथ दोषी अधिकारियों के खिलाफ भी विभागीय कार्यवाही के निर्देश दिए है।

सहारनपुर के तीन थाना क्षेत्रों गागलहेडी, नागल और देवबंद क्षेत्र में जहरीली शराब से सर्वाधिक मौतें हुई हैं। गंभीर हालत में अस्पतालों में भर्ती 35 लोगों का उपचार किया जा रहा है। गुरुवार देर रात से शुक्रवार सुबह तक जहरीली शराब पीने से प्रभावित कुल 66 लोगों को जिला अस्पताल लाया गया था जिनमे से 10 लोगों की मौत अस्पताल लाने से पहले ही हो चुकी थी।

शुक्रवार रात आठ बजे तक सहारनपुर जिले में 18 लोगों की मौत की पुष्टि हुई थी। जिला प्रशासन ने गंभीर रूप से घायल 19 लोगों को मेरठ मेडिकल कालेज और 14 को सहारनपुर मेडिकल रेफर किया था। सहारनपुर में 35 लोगों की मौत हुई जबकि 11 लोगों ने मेरठ में दम तोड़ा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.