राजस्थान आवासन मंडल के तीन मकानों की दवा विक्रेता ने खरबो में लगाई बोली, गलती का हुआ अहसास तो पैरो तले खिसक गई जमीन

Samachar Jagat | Saturday, 05 Oct 2019 12:29:19 PM
The drug dealer of three houses of Rajasthan Awashan Mandal bid in Kharboo, the realization of the mistake, the land slipped under the feet


इंटरनेट डेस्क। राजस्थान आवासन मंडल की ओर से प्रदेश के 42 शहरों की 50 आवासी योजना में चलाई जा रही थी ई आक्शन योजना के तहत आवेदकों ने दुनिया के सबसे महंगे आवासों के रूप में लगाई है। मंडल सूत्रों के अनुसार जयपुर शहर के प्रतापनगर आवास योजना के मकान नंबर 101/38 एवं 110/33 आवासों के लिए आवेदकों ने 1खरब से ऊपर की बोली लगाई है इसमें 101/38 के लिए प्रताप नगर के ही एक दवा विक्रेता संजय आचार्य ने एक खरब 32 अरब 26 करोड़ 97 लाख 11 हजार चार सौ रुपए एवं 110/33 आवास के लिए 1 खरब 38 अरब 41  लाख 63 हजार 758 रुपए लगाई है के चलते मंडल अधिकारियों की भी नींद उड़ी हुई है मंडल आयुक्त पवन अरोड़ा ने बताया कि ई आक्शन योजना ऑनलाइन है इसके चलते किसी आवेदक ने गलती से यह राशि भर दी है अब उसको संशोधित किया जाएगा माना जा रहा है कि नियमानुसार अधिकतम बोली दाता को आवास का आवंटन किया जाता है और अभी तक आवाज नहीं लेने की स्थिति में उसकी ओर से जमा कराई गई राशि जप्त कर ली जाएगी इसके अलावा दूसरे नंबर के आवेदक को भी मकान का मौका नहीं मिल सकेगा प्रताप नगर व्रत कार्यालय से इस संबंध में मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी है रिपोर्ट को लेकर मंडल अधिकारियों में मशक्कत चल रही है कि आखिर नियमों के तहत इसमें क्या किया जा सकता है।


loading...



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.