Movie review: अपने सपने के लिए मौत को हराकर जिंदगी के संघर्ष की कहानी बयां करती है फिल्म 'सूरमा'

Samachar Jagat | Friday, 13 Jul 2018 01:59:51 PM
Diljit Dosanjh and Taapsee Pannu starer Soorma Movie review

फिल्म का नाम  - सूरमा

निर्देशक - शाद अली

फिल्म की स्टारकास्ट- दिलजीत दोसांझ, तापसू पन्नू, दानिश हुसैन, अंगद बेदी, विजय राज

अवधि- 2 घंटा 11 मिनट

रेटिंग - 3.5*

इस हफ्ते बॉलीवुड की मोस्ट अवेटेड फिल्म सूरमा ने सिनेमाघरो में दस्तक दी हैं। दिलजीजत दोसांझ, तापसी पन्नू, अंगद बेदी जैसे कलाकारों से सजी इस फिल्म का इंतजार आखिरकार खत्म हो गया हैं। इन दिनों बॉलीवुड में बायोपिक फिल्मों का दौर चल रहा हैं। फिल्म सूरमा भी एक बायोपिक फिल्म है जो भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान संदीप सिंह की जिंदगी पर आधारित हैं। फिल्म संजू के बाद क्या सूरमा छोड़ पाएगी दर्शको के दिलों में अपनी छाप? चलिए एक नजर डालते है फिल्म रिव्यू पर। 

फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी हॉकी के पूर्व कप्तान संदीप सिंह की जिंदगी के ईर्द-गिर्द गढी गई हैं। फिल्म में संदीप का किरदार दिलजीत दोसांझ निभा रहे हैं। संदीप (दिलजीत) हरियाणा में शाहाबाद के गांव में अपने परिवार के साथ रहता हैं। संदीप के परिवार में बड़े भाई विक्रमजीत सिंह (अंगद बेदी), पिता (सतीश कौशिक) और मां हैं। संदीप ने बचपन से एक ही सपना देखा है हॉकी खिलाड़ी बनने का। इस सपने को पूरा करने के लिए संदीप बचपन से ही अपने बड़े भाई विक्रम के साथ एक कोच के पास हॉकी खेलने जाते। मगर संदीप कोच(विजय राज) के खराब बर्ताव के कारण हॉकी खेलना बंद कर देता हैं।

कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब संदीप की मुलाकात महिला हॉकी खिलाड़ी हरप्रीत (तापसी) से होती हैं। संदीप और हरप्रीत एक दुसरे से प्यार करने लगते हैं। हरप्रीत की इच्छा है कि संदीप भारतीय हॉकी टीम के लिए वर्ल्डकप में खेले। हरप्रीत की ये इच्छा पूरी करने और अपने सपने के लिए एक बार फिर संदीप अपने हाथ में हॉकी स्टीक उठाता हैं।

लेकिन इसी दौरान संदीप के साथ एक ऐसा हादसा हो जाता है जो उसकी पूरी जिंदगी बदल कर रख देता हैं। इस हादसे में संदीप के कमर के नीचे का शरीर पैरालाइज हो जाता हैं। इस हादसे के बाद शुरु होती है संदीप की जिंदगी का सबसे मुश्किल सफर। क्या संदीप अपने पैरों पर खड़ा हो पाएगा? संदीप अपने सपने को पूरा कर पाएगा....क्या संदीप भारतीय हॉकी टीम को वर्ल्डकप दिला पाएगा....बस इन्हीं सवालों के जवाब लेने के लिए आपको करना होगा सिनेमाघरों का रुख।

दमदार पहलू

फिल्म की कहानी बेहद मजबूत हैं। जिसे बेहद खूबसूरती के साथ पर्दे पर उतारा गया हैं। फिल्म की कहानी दर्शकों को अंत तक बांधे रख सकती हैं। फिल्म में कलाकारों का अभिनय बेहतरीन हैं। फिल्म में दिलजीत ने संदीप के किरदार के साथ इंसाफ किया हैं। तापसी की एक्टिंग कमाल की हैं। फिल्म का छायांकन अच्छा हैं। फिल्म का संगीत अच्छा है जिसे दर्शकों द्दारा काफी पसंद किया जा रहा हैं। 

कमजोर कड़ियां

फिल्म को जो कमजोर बनाती है वह है जरुरत से ज्यादा इसे लंबा दिखाना। फिल्म धीरे धीरे रफ्तार पकड़ती है जो दर्शकों को बोर कर सकती हैं। 

क्यों देंखे

यह फिल्म एक बार जरुर देखी जा सकती हैं। 

Source - Google



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.