प्रग्नेंसी के दौरान घट जाती है आखों की रोशनी, जानिए कारण

Samachar Jagat | Friday, 11 Jan 2019 04:06:14 PM
Diminished during progression, know the reason

हैल्थ डेस्क। महिलाओं के शरीर में प्रेग्नेंसी के समय तमाम तरह के बदलाव होते है। लेकिन कुछ ज्यादा सामान्य नहीं होते है। जैसे की आंखों से धुंधला नजर आने लगता है। हालांकि डिलेवरी के बाद यह परेशानी स्वंय ही कम होने लग जाती है। लेकिन पूरी प्रेग्नेंसी के समय यह समसा बनी रहती है। जिससे की घबराहट होने लगती है। यदि आपको भी प्रेग्नेंसी के समय धुंधला नजर आता है। तो धबराने की जरूरत नहीं है। आप अपनी इस परेशानी को लेकर डॉक्टर से सलाह ले। 


आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी के समय हार्मोनल में बदलाव होने पर इसका असर कई बार आंखों पर भी पड़ने लगता है। तो कई बार प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में खून का संचार और तरल पदार्थ ज्यादा बनते है। धुंधलेपन का कारण ये तरल पदार्थ भी हो सकते है। दरअसल, प्रेग्नेंसी के समय कार्निया मोटा हो जाता है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी में शिशु का विकास के लिए शरीर में तरल पदार्थ तेजी से बनते है। इससे आंखों के लेंस और कार्निया मोटे हो जाते है। इस कारण आईबॉल पर दबाव पड़ता है। लेकिन कई बार हाई बीपी  के कारण भी होता है। क्योंकि प्रेग्नेंसी में बीपी हाई होना आम बात है। 

गौरतलब है कि प्रेग्नेंसी के समय कांटेक्ट लेंस यूज नहीं करना चाहिए। अगर धुंधलेपन की समस्या आ रही हो तो उस समय तो बिलकुल भी इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। डिलेवरी के बाद यह स्मस्या स्वंय ही खत्म हो जाती है। लेकिन अगर परेशानी हो तो डॉक्टरर्स से जरूर सलाह ले। 


दरअसल, प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज और न्यूट्रिशन्स का ध्यान रखना चाहिए। कई बार न्यूट्रिशन्स की कमी के कारण भी कई समस्या आ जाती है। यदि डिलवरी के 6—7 महीने बाद भी अगर यह समस्या होती है तो कई बार सर्जरी की भी जरूरत पड जाती है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.